comscore
News

'Super blue blood moon: 31 जनवरी को होगा आपके सामने, यहाँ जाने सब कुछ

भारत में इसकी अवधि लगभग एक घंटे की रहने वाली है।

  • Updated: January 30, 2018 1:02 PM IST
Supermoon-Pixabay

Image: Pixabay


रेयर सेलेस्टियल इवेंट को कल यानी 31 जनवरी को देखा जा सकेगा, जहां ‘Blue Moon’ और लूनर एक्लिप्स एक साथ चंद्रमा में कम्बाइन होकर पृथ्वी के निकटतम प्वाइंट पर आपको नजर आने वाला है, इसके परिणाम के तौर पर हम सभी को “Super Blue Blood Moon” लगभग 150 सालों बाद नजर आयेगा। 31 जनवरी यानि पूर्णिमा के दिन चंद्रमा ब्लू रेंज में दिखाई देगा। आपको बता दें कि आप इस नज़ारे को  वेस्टर्न हेमिस्फेयर से भली प्रकार से देख पाएंगे, जिसका अर्थ है कि आप इसे मिडल ईस्ट, एशिया, ईस्टर्न रूस, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड आदि देशों में देख सकते हैं। इस तरह का अनोखा नजारा पिछली बार साल 1866 में देखा गया था।

“Super Blue Blood Moon” ब्लू मून का रिजल्ट है, जो कि कैलेंडर मंथ में दूसरा फुल मून है। साथ ही यह एक ही समय में सुपर मून के रूप में नजर आएगा, जब चांद perigee पर होने के साथ ही सामान्य से लगभग 14 प्रतिशत ब्राइटर होता है। लूनर एक्लिप्स के दौरान Blood Moon को देखा जाएगा, जहां चांद पृथ्वी की छाया में लाल रंग का दिखाई देने वाला है।

भारतीय समय के अनुसार

भारतीय समय के अनुसार 31 जनवरी 2018 की शाम 6:21 PM पर यह शुरू होगा और 7:37 PM तक चलने वाला है। आप इस समय अपने कैमरा के साथ ‘Super Blue Blood Moon’ की तस्वीरें क्लिक कर सकते हैं।

कैसे देख सकते हैं लाइव स्ट्रीमिंग

वहीं, अगर आप Super Blue Blood Moon को देखने के लिए यदि सही समय पर बाहर नहीं निकल पाए, तो इसकी लाइव स्ट्रीम को NASA TV और nasa.gov/live पर भी देख सकते है। इस इवेंट की कुल अवधि 77 मिनट की है। आप इस समय अपने कैमरा के साथ ‘Super Blue Blood Moon’ की तस्वीरें क्लिक कर सकते हैं। उम्मीद है कि भारत में ग्रहण लगभग एक घंटे तक रहने वाला है।

फिर कब आयेगा नजर

अगर आपको 31 जनवरी वाले लूनर एक्लिप्स को नहीं देख पाए, तो अगले साल 21 जनवरी को फिर से टोटल लूनर एक्लिप्स है, जिसे आप देख सकते हैं।। हालांकि, यह Super Blue Blood Moon नहीं होगा।

  • Published Date: January 29, 2018 1:20 PM IST
  • Updated Date: January 30, 2018 1:02 PM IST