comscore
News

बाजार बिगाड़ू शुल्क दर: दूरसंचार कंपनियों पर लग सकता है 50 लाख रु तक का जुर्माना

प्रति सर्किल के हिसाब से 50 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

  • Published: February 18, 2018 11:00 AM IST
telecom-industry

दूरसंचार नियामक ट्राई ने आज कहा कि अगर किसी कंपनी की शुल्क दरें बाजार को बिगाड़ने वाली पायी जाती हैं तो उस पर प्रति सर्किल के हिसाब से 50 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

ट्राई ने इस बारे में जारी परिपत्र में कहा है, ‘जिस मामले में शुल्क दरें बाजार बिगाड़ने वाली पाई जाती है तो सेवा प्रदाता को बिना किसी भेदभाव के प्रत्येक ऐसी शुल्क दर योजना के लिए प्रति सर्किल 50 लाख रुपये तक वित्तीय हतोत्साहित राशि के तौर पर चुकानी होगी। इस बारे में प्राधिकरण के निर्देश के अनुरूप भुगतान करना होगा।

उल्लेखनीय है कि देश में इस समय 22 दूरसंचार सर्किल हैं। प्रमुख दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया सेल्यूलर व रिलायंस जियो सभी सर्किलों में परिचालन करती है। सार्वजनिक दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल 20 सर्किलों में तथा एमटीएनएल दो सर्किलों में सेवा देती है। एयरसेल का परिचालन चुनींदा सर्किलों में है।

उल्लेखनीय है कि भारती एयरटेल, वोडाफोन व आइडिया सेल्यूलर ने रिलायंस जियो पर आरोप लगाया था कि वह बाजार बिगाड़ने वाले शुल्क दरों की पेशकश कर रही है। इसको देखते हुए ही ट्राई ने यह नया आदेश जारी किया है। नियामक ने अपने आदेश में विस्तार से ब्यौरा दिया है कि किसी शुल्क दर को कैसे बाजार बिगाड़ू माना जाएगा।

  • Published Date: February 18, 2018 11:00 AM IST