comscore
News

दूरसंचार मंत्रालय आईएमजी के सुझावों को मंत्रिमंडल के समक्ष रखेगा

रसंचार विभाग की शीर्ष निर्णय लेने वाली संस्था ने पिछले महीने ही आईएमजी की सिफारिशों के आधार पर दूरसंचार कंपनियों द्वारा नीलामी में खरीदे गये स्पेक्ट्रम राशि का भुगतान करने की समयावधि 10 साल से बढ़ाकर 16 साल करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।

  • Published: October 19, 2017 9:00 PM IST
manojsinha-telecom-minister

दूरसंचार मंत्रालय अगले महीने अंतर मंत्रालयी समूह (आईएमजी) की सिफारिशों को मंत्रिमंडल के समक्ष रख सकता है। ये सिफारिशें दूरसंचार क्षेत्र पर बढ़ते वित्तीय दबाव को कम करने के बारे में हैं। एक सरकारी अधिकारी ने अपना नाम नहीं बताने की शर्त पर पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘दूरसंचार मंत्रालय आईएमजी की सिफारिशों को करीब चार सप्ताह में मंत्रिमंडल को मंजूरी के लिये भेज देगा।

दूरसंचार विभाग की शीर्ष निर्णय लेने वाली संस्था ने पिछले महीने ही आईएमजी की सिफारिशों के आधार पर दूरसंचार कंपनियों द्वारा नीलामी में खरीदे गये स्पेक्ट्रम राशि का भुगतान करने की समयावधि 10 साल से बढ़ाकर 16 साल करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। स्पेक्ट्रम भुगतान की समयसीमा बढ़ाने की दूरसंचार कंपनियों की प्रमुख मांग थी। दूरसंचार कंपनियों ने अंतर मंत्रालयी समूह को अपनी जो मांगे सौंपी थी उनमें यह प्रमुख मांग थी। दूरसंचार क्षेत्र इस समय 4.6 लाख करोड़ रुपये के कर्ज बोझ तले दबाव हुआ है। इसे भी देखें: Micromax Bharat 1 बनाम Reliance JioPhone बनाम Airtel Karbonn A40 Indian: कीमत, स्पेसिफ़िकेशन और टैरिफ प्लान में अंतर

मौजूदा व्यवस्था में दूरसंचार कंपनियों को शुरुआत में एक हिस्से का भुगतान करना होता है और शेष राशि का भुगतान दो साल के बाद 10 सालाना किस्तों में करना होता है। एक सरकारी सूत्र ने कहा कि आयोग ने आईएमजी की इस सिफारिश को भी मंजूरी दे दी है कि कंपनियों से जुर्माने पर वसूले जाने वाली ब्याज दर को कम किया जाना चाहिये। यह ब्याज दर स्टेट बैंक की प्रधान ब्याज दर से घटाकर एमसीएलआर :कर्ज की राशि की सीमांत लागत : से चार प्रतिशत ऊपर तय कर दी जानी चाहिये। इसे भी देखें: Bharat 1 4G फीचर फोन लॉन्च हुआ, कीमत है महज Rs. 2,200; जानें इसके फीचर

स्टेट बैंक की प्रधान रिण ब्याज दर के आधार पर जो कर्ज लिया गया है उसपर 13.7 प्रतिशत ब्याज लगता है। नईव्यवस्था यदि लागू होती है तो दूरसंचार कंपनियों को जुर्माने और देरी से भुगतान पर 12 प्रतिशत की दर से ब्याज देना होगा। इसे भी देखें: Chilli K188 एक fidget spinner है जिसे फोन के डिजाईन में पेश किया गया है! क्या! क्या यह सच है?

  • Published Date: October 19, 2017 9:00 PM IST