comscore
News

नयी तकनीक से भूंकपों की तीव्रता का जल्द पता लगेगा

भूकंप आने पर उसकी तरंगों की माप से भी पहले गुरुत्वाकर्षण में होने वाले तात्कालिक बदलाव को दर्ज किया जा सकता है।

  • Published: December 4, 2017 10:00 PM IST
earthquake-image

वैज्ञानिकों ने जबरदस्त भूकंपों की तीव्रता के तीव्र आकलन के लिए गुरुत्वाकर्षण पर आधारित एक तकनीक का विकास किया है। वर्तमान में वैज्ञानिक इस कुदरती घटना की माप के लिए भूकंप की तरंगों का इस्तेमाल करते हैं।

फ्रांस के पेरिस डेडोरॉट यूनिवर्सिटी और अमेरिका के कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के अनुसंधानकर्ताओं ने 2011 में जापान के तोहोकु में आये भूकंप का विश्लेषण किया। इसमें यह बात निकलकर सामने आई कि गुरुत्वाकर्षण में बदलाव के जरिये बहुत जल्द जानकारी हासिल की जा सकती है।

भूकंप आने पर उसकी तरंगों की माप से भी पहले गुरुत्वाकर्षण में होने वाले तात्कालिक बदलाव को दर्ज किया जा सकता है। इस अध्ययन का प्रकाशन ‘साइंस’ जर्नल में किया गया है। अध्ययन में अनुसंधानकर्ताओं ने गुरुत्वाकर्षण से जुड़े कमजोर संकेतों का पता लगाया और साथ ही समझा कि वे कहां से आते हैं।

  • Published Date: December 4, 2017 10:00 PM IST