comscore
News

तीसरी तिमाही में शीर्ष आईटी कंपनियों की वृद्धि होगी सुस्त: विश्लेषक

आईटी क्षेत्र की शीर्ष भारतीय कंपनियों का वित्तीय प्रदर्शन दिसंबर में समाप्त हुई तिमाही में कमजोर रहने का अनुमान है।

  • Published: January 8, 2018 9:00 PM IST
monstor-it-job

सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र की शीर्ष भारतीय कंपनियों का वित्तीय प्रदर्शन दिसंबर में समाप्त हुई तिमाही में कमजोर रहने का अनुमान है। विश्लेषकों का मानना है कि आलोच्य तिमाही के दौरान कामकाजी दिनों की कम संख्या तथा बैंकिंग एवं वित्तीय सेवा क्षेत्र में नरमी के कारण ऐसा होगा।

निवेशक टीसीएस, इंफोसिस जैसी आईटी कंपनियों द्वारा मांग के परिदृश्य के बारे में बताये जाने का इंतजार कर रहे हैं। इसके अलावा अमेरिका में कर सुधार तथा वीजा नियमों में प्रस्तावित बदलाव भी चिंता के विषय होंगे। मौजूदा वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के परिणाम सत्र की शुरुआत टीसीएस 11 जनवरी को करेगी। इसके कुछ दिन बसद इंफोसिस का भी परिणाम आएगा। विप्रो 19 जनवरी को अपना परिणाम जारी करेगी।

कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज ने एक रिपोर्ट में कहा, ‘‘हम शीर्ष भारतीय आईटी कंपनियों के राजस्व में 1-1.8 प्रतिशत की वृद्धि दर की उम्मीद करते हैं। हमें साल के अंत की छुट्टियां, बैंकिंग व वित्तीय सेवा क्षेत्र में नरमी तथा उत्तरी अमेरिका के कारण शीर्ष आईटी कंपनियों की राजस्व वृद्धि में सुस्ती की आशंका है।’’ रिपोर्ट में कहा गया कि मध्यम श्रेणी की कंपनियों के राजस्व में अपेक्षाकृत तेज वृद्धि की उम्मीद है।

मोतीलाल ओसवाल के अनुसार, निवेशकों की निगाहें बजट में आईटी क्षेत्र के बारे में टिप्पणियां, बीजा संबंधी दिक्कतों से निपटने के उपाय तथा बैंकिंग व वित्तीय सेवा क्षेत्र के बारे में दृष्टिकोण पर लगी रहेगी। इसके अलावा निवेशक इंफोसिस के नये मुख्य कार्यकारी अधिकारी सलिल पारिख की रणनीति पर भी निगाह रखेंगे।

  • Published Date: January 8, 2018 9:00 PM IST