comscore
News

ट्विटर ने रूस की कासपर्सकी लैब का विज्ञापन रोका

ट्विटर ने कहा है कि कासपर्सकी उस व्यापार मॉडल का इस्तेमाल करती है, जो ट्विटर की स्वीकार्य विज्ञापन कारोबार प्रथाओं के खिलाफ है।

  • Published: April 23, 2018 4:49 PM IST
twitter-stock-getty-image

ट्विटर ने रूस की साइबर सुरक्षा कंपनी कासपर्सकी लैब को अपने प्लेटफार्म पर विज्ञापन देने से प्रतिबंधि कर दिया है और कहा है कि “कंपनी (कासपर्सकी लैब) उस व्यापार मॉडल का इस्तेमाल करती है, जो ट्विटर की स्वीकार्य विज्ञापन कारोबार प्रथाओं के खिलाफ है।” ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जैक डोर्सी को लिखे खुले पत्र में कासपर्सकी लैब के संस्थापक यूजेन कासपर्सकी ने इस कदम को ‘संभावित राजनीतिक सेंसरशिप’ करार दिया।

यूजेन ने लिखा, “जनवरी के अंत में ट्विटर ने अप्रत्याशित रूप से हमें हमारे आधिकारिक खातों पर इस विज्ञापन प्रतिबंध के बारे में सूचित किया, जहां हम साइबर सुरक्षा पर हमारे विभिन्न ब्लॉग्स से संबंधित नए पोस्ट करते हैं (इनमें उदाहरण के लिए सिक्योरलिस्ट और कासपर्सकी डेली शामिल है) और यूजर्स को नए साइबर खतरों के बारे में जानकारी देते हैं और उन्हें बताते हैं कि उन्हें क्या करना चाहिए।”

उन्होंने कहा, “ट्विटर के अनाम कर्मी द्वारा लिखे गए एक संक्षिप्त पत्र में हमें बताया गया कि हमारी कंपनी एक ऐसे व्यापार मॉडल का संचालन करती है, जो ट्विटर की स्वीकार्य विज्ञापन व्यापार प्रथा के खिलाफ है।” कासपर्सकी लैब 2017 से अपने कंटेट को ट्विटर पर प्रमोट करने के लिए लगभग 93,000 डॉलर का खर्च किया है, जबकि भारत से ट्विटर को प्राप्त होने वाले विज्ञापनों की कमाई करीब 13,580 डॉलर है।

  • Published Date: April 23, 2018 4:49 PM IST