comscore
News

मार्च-एंड में पृथ्वी पर क्रैश हो सकता है चीन का 'अनियंत्रित' स्पेस स्टेशन: विशेषज्ञ

वैज्ञानिक अभी भी यह नहीं समझ पा रहे हैं कि स्पेस स्टेशन कहा क्रैश होगा।

  • Published: March 7, 2018 1:00 PM IST
earth-stock-image-getty

जून 2016 में चीन ने खुलासा किया था कि उसने Tiangong-1 का नियंत्रण खो दिया था। साथ ही चीन ने यह भी कहा कि वह नियंत्रित रि-एंट्री करने में असमर्थ है। वहीं, अब वैज्ञानिकों ने यह खुलासा किया है कि “आउट-ऑफ-कंट्रोल” स्पेस स्टेशन पृथ्वी पर आने वाले कुछ हफ्तों में क्रैश हो सकता है। स्पेश स्टेशन पिछले कुछ महीनों से पृथ्वी की ओर गिर रहा है।

यूरोपीय स्पेस एजेंसी (ESA) की एक टीम ने इसके प्रभाव के लिए विंडो को नैरो कर दिया है, लेकिन अभी भी यह बताने में असमर्थ है कि 19000 पौंड की यह स्पेस स्टेशन आखिर कहां गिरेगा।

चीन सरकार ने दो साल पहले Tiangong-1 पर नियंत्रण खोने की सूचना दी थी। साथ ही में चीन की सरकार ने यह घोषणा की कि स्टेशन 2017 के अंत में पृथ्वी पर क्रैश हो जाएगा। वहीं, बाद में इस घोषणा को रिवाइस कर कहा गया है यह स्टेशन मार्च 2018 में क्रैश होगा। जिसके बाद अब, ESA ने Tiangong-1 के क्रैश लैंडिंग के बारे में जानकारी दी है। ESA का मानना ​​है कि Tiangong-1 मार्च 29 और 9 अप्रैल के बीच क्रैश हो सकता है।

हालांकि, ESA का कहना है कि वह स्पेस लैब के आउट-ऑफ-कंट्रोल रूट के कारण सटीक डेट के बारे में कुछ भी नहीं कह पाएंगे। वहीं, ESA ने अपने ब्लॉग पोस्ट पर लिखा है कि, “ESA से कोई सटीक समय / स्थान भविष्यवाणी संभव नहीं होगा।” ESA का कहना है कि क्रैश जोन को नैरो करना संभव नहीं है। हालांकि, एजेंसी ने अनुमान लगाया है कि यह 43° उत्तर और 43° दक्षिण लेटिट्यूड के बीच है।

Harvard astrophysicist Jonathan McDowell ने The Guardian को बताया, “यहां तक कि रि-एंटर से कुछ दिन पहले भी हम इसके बारे में कुछ भी नहीं बता पाएंगे। शायद हम स्पेस स्टेशन के क्रैश होने के छह या सात घंटे पहले कुछ कह पाएंगे।”

  • Published Date: March 7, 2018 1:00 PM IST