comscore
News

विप्रो का शुद्ध लाभ घटकर 2,143 करोड़ रुपए

पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 14,407.3 करोड़ रुपये थी। कंपनी ने भारतीय लेखा मानकों के अनुसार ये परिणाम जारी किए हैं।

  • Published: October 20, 2017 7:00 AM IST
wipro-logo

भारत की तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा कंपनी विप्रो का दूसरी तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ मामूली तौर पर घटकर 2,143.2 करोड़ रुपये रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में इसका शुद्ध लाभ 2,163.6 करोड़ रुपये था। बंबई शेयर बाजार को दी सूचना में कंपनी ने बताया है कि समीक्षावधि में कंपनी की कुल आय 1.8% घट कर 14,134.8 करोड़ रुपये रही है जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 14,407.3 करोड़ रुपये थी। कंपनी ने भारतीय लेखा मानकों के अनुसार ये परिणाम जारी किए हैं।

कंपनी के कारोबार में महत्वपूर्ण हिस्सेदारी रखने वाले आईटी सेवा श्रेणी से कंपनी की आय 2.013 अरब डॉलर रही है जो पिछले साल की तुलना में 2.1% अधिक है। यह कंपनी के राजस्व दायरे 196. 2 करोड़ डॉलर से 200.1 करोड़ डॉलर से अधिक है। इसे भी देखें: Chilli K188 एक fidget spinner है जिसे फोन के डिजाईन में पेश किया गया है! क्या! क्या यह सच है?

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अब्दाली जेड. नीमचवाला ने कहा कि आईटी सेवाओं से आय के मामले में हमने 2 अरब डॉलर के मानक को पूरा किया है। यह हमारी रणनीति को सफल तौर पर लागू करने का परिणाम है। इसे भी देखें: Bharat 1 4G फीचर फोन लॉन्च हुआ, कीमत है महज Rs. 2,200; जानें इसके फीचर

अक्तूबर-दिसंबर 2017 की तिमाही के लिए कंपनी को आईटी सेवा कारोबार से 201.4 करोड़ डॉलर से लेकर 205.4 करोड़ डॉलर तक की आय होने की उम्मीद है। समीक्षावधि में आईटी उत्पाद श्रेणी से कंपनी की आय 300 करोड़ रुपये रही है। इसे भी देखें: Micromax Bharat 1 बनाम Reliance JioPhone बनाम Airtel Karbonn A40 Indian: कीमत, स्पेसिफ़िकेशन और टैरिफ प्लान में अंतर

कंपनी ने कहा कि दूसरी तिमाही में उसके कर्मचारियों की संख्या 1,63,759 रही जो इससे पिछली तिमाही में 1,66,790 थी। बारह महीनों के आधार पर कंपनी से नौकरी छोड़कर जाने वालों का प्रतिशत 15.7 रहा है।

  • Published Date: October 20, 2017 7:00 AM IST