comscore
News

क्या वाकई भारत में 2019 तक नहीं रहेगा एक भी 2G इस्तेमाल करने वाला उपभोक्ता?

सस्ते दामों में 4G डाटा का हाई-स्पीड में मिल जाना, आने वाले समय में का रिपोर्ट को हकीक़त का रूप दे सकता है। रिलायंस जियो द्वारा इस सेवा को सभी तक पहुँचाने के बाद इस समय भारत में कम ही 2G यूजर बचे हैं।

Internet-Saathi-07

आप शायद जानते हों कि 2015 में भारत में 2G और 3G ने एक दम से बढ़त हासिल की थी, हालाँकि इस समय 4G को ज्यादा बड़े पैमाने पर भारतीय टेलीकॉम जगत में बढ़ावा नहीं दिया था। लेकिन इसके बाद भी यह इस समय मौजूद था, लेकिन ज्यादातर यूजर्स 2G और 3G का ही इस्तेमाल कर रहे थे, क्योंकि बड़े पैमाने पर 4G के जो दाम देने होते थे वह सब की पहुँच से बाहर ही थे।

हालाँकि इसके बाद Jio की इस क्षेत्र में एंट्री भारत में नेटवर्क आदि के लिए एक नया मोड़ था। आपको बता दें कि जिस 4G के लिए अभी तक हमें ज्यादा पैसे का भुगतान करना पड़ रहा था, उस 4G को Jio ने कोड़ियों के दामों में भारतीय यूजर्स को देना शुरू किया। आप जानते ही हैं कि लगभग 6-8 महीने तक तो इस सेवा को सभी यूजर्स को बिना किसी शुल्क के दिया गया था। इस तरह का कदम अभी तक किसी ने भी उठाया नहीं था और Jio ऐसा करने में कामयाब हुआ था, इसे देखते हुए सभी अन्य कंपनियों ने भी अपने डाटा को सस्ता किया जो अभी तक बहुत अधिक महँगा था। जहां अभी तक जो लोग महज एक सुस्त नेटवर्क को भी इस्तेमाल कर रहे थे, वहां अब सभी 4G का इस्तेमाल करने लगे हैं।

 

इसी को देखते हुए ऐसा कहा जा सकता है कि लगभग आने वाले एक साल के भीतर कुछ ऐसा होने वाला है, जो आपके कभी सोचा भी नहीं होगा, यानी लगभग एक साल के अंदर हमारे देश में एक भी 2G इस्तेमाल करने वाला यूजर नहीं बचने वाला है, क्योंकि इसे भी 4G पर लाये जाने का काम जोरों पर है। आपको बता दें कि एक हाल ही में आई एक रिपोर्ट भी ऐसा ही कुछ कहती है। इस रिपोर्ट की मानें तो June 2019 तक भारत में एक भी 2G नेटवर्क इस्तेमाल करने वाला यूजर नहीं बचेगा। क्योंकि इसे इसी दाम में 4G मिलना शुरू हो जाएगा। हालाँकि अब यहाँ सवाल उठता है कि आखिर कैसे इस रिपोर्ट में एक दम उसी महीने का जिक्र किया गया है, जब ऐसा हो सकता है। इस रिपोर्ट में इस महीने को ही कैसे बताया जा रहा है। इस तरह के और भी कई सवालों के ऊतर आज हम तलाशने वाले हैं।

शोधकर्ता Jio को श्रेय देते हुए, कह रहे हैं कि 2G का अंत June 2019 में हो जाएगा!

आपको बता दें कि साइबरमीडिया इस तरह के एक नए शोध के साथ सामने आया है, आपको बता दें कि इसकी ही एक रिपोर्ट में सामने आ रहा है कि आने वाला समय में यानी June 2019 तक भारत में एक बझी 2G यूजर्स नहीं रहने वाला है, यानी इनकी संख्या Zero हो जाने वाली है। और इसके पीछे जियो का एक बड़ा हाथ बताया जा रहा है।

इस रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय टेलीकॉम जगत में Jio का प्रवेश होते ही भारत में वायरलेस नैरोबैंड यूजर्स की संख्या में बड़ी गिरावट देखी गई है, और रिपोर्ट में ऐसा कहा गया है कि यह गिरावट लगभग 4 गुना है। और इसके कारण ही ऐसा भी माना जा रहा है कि 2019 की दूसरी तिमाही में 2G यूजर्स की संख्या में भी बड़ी गिरावट आने वाली है। हालाँकि वर्तमान में भी यह गिरावट देखी गई है, लेकिन इस रिपोर्ट के अनुसार आने वाले समय में इस गिरावट को और अधिक बड़े पैमाने पर देखा जाने वाला है।

यह रिपोर्ट कहती है कि, “हालांकि, जियो की प्रविष्टि के बाद, अनुमान बताते हैं कि 2020 की पहली तिमाही तक भारत में 2G इंटरनेट यूजर्स की संख्या शून्य हो जाएगी। यह अग्रिम जियो के बाद में गिरावट की दर में घातीय वृद्धि की वजह से है, जो हर तिमाही में 12% औसत रहा है।”

इसके अलावा आपको बता दें कि यह रिपोर्ट ऐसा भी कहती है कि भारत में 2G यूजर्स की गिरावट वर्ष दर वर्ष 3% की गति से हो रही है; लेकिन हाई-स्पीड इंटरनेट पर लेजर फोकस ने इस गिरावट को 4 गुना बढ़ा दिया है, जिसका मतलब है कि, 2020 की पहली तिमाही में भारत में 2G यूजर्स की संख्या शून्य होगी।

इसके बाद 2G का होगा?

हालाँकि इस रिपोर्ट में ऐसा भी कहा गया है कि इसके बाद भी 2G इस्तेमाल करने वाले यूजर्स नाममात्र की संख्या में ही रह जायेंगे, और इन्हें इसे इस्तेमाल करते रहने दिया जाएगा। आपको बता दें कि जहां हाई-स्पीड इंटरनेट की पहुँच नहीं बन पाएगी, और जहां इसकी जरूरत भी नहीं है, वहां इसे चलते रहने दिया जाने वाला है।

आपको बता दें कि हमारे देश में लगभग 100 मिलियन फीचर फोन इस्तेमाल करने वाले लोग हैं, और लगभग सभी फोंस के 50 फीसदी महज के बेसिक फीचर फोन की तरह ही लॉन्च किये जाते हैं। इसके कारण ही शायद एयरटेल ने इस बात की घोषणा कर दी है कि उसका फोकस अब महज 4G और 2G पर ही रहने वाला है।

हालाँकि इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इन 100 मिलियन फीचर फोन इस्तेमाल कर्ताओं को स्मार्टफोन के द्वारा इंटरनेट कनेक्टिविटी देने का काम भी जोरों पर है, और ऐसा इन यूजर्स को सस्ते स्मार्टफोंस मुहैया कराने से शुरू कर दिया गया है, इसे देखकर ही कहा जा सकता है कि पिछले कुछ समय में भारत में कई सस्ते 4G स्मार्टफोंस को लॉन्च किया गया है। इसके अलावा इन फोंस के साथ बेहद सस्ते डाटा प्लांस भी आपको दिए जा रहे हैं, जिन्हें देखकर आप निश्चित तौर पर इनके प्रति आकर्षित हो सकते हैं।

know the tips-to-stay-safe-on-public-wi-fi-networks

???? ?????: upload.wikimedia.org

निष्कर्ष

हमने 2016 में देखा था कि Jio ने भारतीय टेलीकॉम जगत में अपने कदम रखे थे। इसके बाद मानों टेलीकॉम जगत में एक उथल पुथल सी मच गई थी। और सभी टेलीकॉम कम्पनियाँ अपने आप को बेहतर साबित करने की दौड़ में शामिल हो गई थी। जहां Jio कोड़ियों के दामों में यूजर्स को 4G इंटरनेट मुहैया करा रहा था। वहां अन्य टेलीकॉम कंपनियों के यूजर्स भी जियो की ओर आ रहे थे। ऐसा में अपने यूजर्स को बचाने और अपने साथ ही बनाए रखने के लिए अन्य टेलीकॉम कंपनियों ने भी अपने प्लान काफी सस्ते कर दिए थे। और जब यह प्लान सस्ते हुए तो हमने देखा कि सभी इसे इस्तेमाल करने लगे थे। हालाँकि इस समय हमें एक 4G स्मार्टफोन की भी जरूरत भी तो हमने ऐसा भी देखा कि इस समय 4G स्मार्टफोंस की सेल में भी वृद्धि हुई थी।

हालाँकि बाद में जब देखा गया कि एक बड़ा तबका इससे अब भी वंचित है तो सस्ते दामों में 4G स्मार्टफोंस और फीचर फोंस को भी लॉन्च किया जाने लगा। हालाँकि इसकी शुरुआत भी Jio ने भी अपने ‘देश के स्मार्टफोन’ JioPhone से की थी। इसके बाद कई फीचर फोंस और स्मार्टफोंस को आकर्षक प्लान और कम कीमत के साथ पेश किया गया था। और ऐसा अभी भी किया जा रहा है। इसी को देखते हुए ऐसा माना जा रहा है कि आने वाले समय में भारत में 2G नेटवर्क का नाम मानों कहीं गायब सा हो जाएगा। अब देखना यह होगा कि ऐसा होता भी या नहीं।

  • Published Date: January 16, 2018 10:30 AM IST