comscore
News

क्या वाकई एप्पल आपके पुराने iPhone को जानभूझकर स्लो कर देता है?

इस बात को कितना सच माना जा सकता है कि एप्पल अपने आप ही सोच समझकर आपके पुराने फ़ोन को स्लो कर देता है, ताकि आप इसे अपग्रेड करें... आइये जानते हैं क्या है इसके पीछे का सच।

apple-iphone-x-hands-on-bgr-2

Highlights

  • क्या एप्पल जानभूझकर आपके पुराने iPhones को करता है स्लो।

  • इस बात को आप बहुत से एप्स की मदद से जा सकते हैं कि एप्पल ऐसा कैसे करता है।

  • सॉफ्टवेयर अपडेट के बाद iPhones हो जाते हैं स्लो।

आप सभी उन सभी चीजों जैसे षड्यंत्रों के बारे में तो जानते हैं जो किसी भी आगे बढ़ते हुए व्यक्ति, उससे जुड़े व्यवसाय, कंपनी आदि को पीछे करने के लिए कभी जानभूझकर और कभी अनजाने में कर लिए जाते हैं, इन्हें एक सोची समझी साजिश के तहत अंजाम भी दिया जाता है। ऐसा ही कुछ एप्पल के मामले में भी सामने आया है, ऐसा माना जा रहा है कि एप्पल अपने पुराने iPhones को अपनी एक नीति के तहत इस लिए स्लो कर देता है, ताकि लोग इसे अपग्रेड करें। अब इस बात में कितनी सच्चाई है, सच्चाई है भी या नहीं, या फिर यह पूरी तरह से सच है? आज हम इसी बात पर चर्चा करने वाले हैं। तो आइये जानते हैं कि क्या आखिर एप्पल सच में सोची समझी साजिश के तहत ऐसा कर रहा है, या यह एक षड्यंत्र है?

आपको याद ही होगा कि एप्पल इस मामले को लेकर पूरी तरह से चुप रहा है, और सभी लोग जो इस बारे में सोचते हैं, या कुछ कह रहे हैं, उन्हें कुछ समय बाद लोग पागल कहने लगे हैं। हालाँकि यह सवाल उठता है कि आखिर एप्पल इस मामले को लेकर चुप क्यों है? हालाँकि इस मामले में ऐसा कहा जा सकता है कि एप्पल पहले से ही हमसे झूठ कहता आ रहा है, ऐसा भी कहा जा सकता है कि यह यूजर्स को शुरू से ही दिशा से भटकाता रहा है। क्योंकि ऐसा इस चुप्पी को देखकर ऐसा कहा जा सकता है कि वह लोग पागल नहीं सही हैं, और थे, जो कह रहे हैं कि एप्पल अपने आप ही जान भूझकर अपने पुराने iPhones ओ स्लो कर देता है, ताकि लोग इसे अपग्रेड करें।

क्या एप्पल जानभूझकर ऐसा करता है?

इस मामले को लेकर कंपनी का झूठ सामने आ गया है, और इसे लेकर कंपनी पकड़ी भी गई है, और इसे throttling को भी झेलना पड़ा है। वहीँ जहां ऐसा सामने आ रहा है कि एप्पल ऐसा अपनी एक नीति के तहत करता है, और ऐसा सच भी है। वहीँ एप्पल इसे लेकर कहता है कि वह ऐसा करता जरुर है लेकिन वह ऐसा बैटरी लाइफ में इजाफा करने के लिए करता है। इसके अलावा बिना किसी वजह के फोंस को शटडाउन से बचाने आदि के लिए वह ऐसा करता है। हालाँकि अब जो भी हो लेकिन ऐसा सामने आ गया है, और सच भी साबित हो गया है, इसके चलते ही अब कंपनी पर इन्हीं मामलों को लेकर लगभग एक दर्जन से भी ज्यादा केस कर दिए गए हैं।


इसका मतलब है कि अब एप्पल यूजर्स इस मामले को कोर्ट में ही आमसे सामने आकर निपटाना चाहते हैं, आखिर ऐसा होना भी चाहिए, क्योंकि एप्पल ऐसा सोची समझी नीति के तहत कर रहा था और यूजर्स को हमेशा से ही झूठ कहता आ रहा था। हालाँकि अब यह तो आपस में कोर्ट में ही आमने सामने होंगे लेकिन जिन यूजर्स को अपने फोन में स्लो होने की दिक्कते आ रही हैं, उन्हें बस एक ही तरह से सही किया जा सकता है कि वह अपने फोन की पुरानी बैटरी को एक नई बैटरी के साथ बदल दें। इसके अलावा एप्पल में अपनी बैटरी को भी सस्ता कर दिया है, अब आपको iPhone 6 और इसके बाद वाले फोंस की बैटरी लगभग 29 डॉलर के आसपास मिल जाएगी। हालाँकि आप इस बात को कैसे जान पाएंगे कि आपका पुराना iPhone स्लोडाउन हुआ है? आज हम आपको इसके बारे में भी बताने वाले हैं।

इसके पहले कि हम आपको बताएं कि आखिर आप कैसे चेक करें तो आपके फोन के साथ साथ छेड़छाड़ की गई है, आइये इस बारे में पहले जान लेते हैं कि आखिर एप्पल आपके पुराने iPhone को कैसे स्लो करता है। आपको बता देते हैं कि इसके लिए iOS में एक फंक्शन दिया गया है। इस सॉफ्टवेयर में ऐसा एक मकेनिज्म है जो आपकी बत्तेर्य्ब की स्थिति को जांच सकता है, जो अनिवार्य रूप से समय के साथ degrades होता है और ऐसा सभी लिथियम आयन बैटरी करती हैं। जैसे ही बैटरी एक निश्चित बिंदु पर जाकर degrades होती है, iOS अपने आप ही iPhone के परफॉरमेंस को throttle कर देता है।

कैसे जानें कि आपका फोन हुआ है स्लो?

इस बात की जाँच करने के लिए आपको महज एक ऐप की जरूरत है और इसके अलावा आपको कुछ भी नहीं चाहिए इस ऐप की सहायता से ही आप जान सकते हैं कि एप्पल के आपके iPhone को throttle किया है या नहीं। इसे लेकर आप किसी भी ऐप को इस्तेमाल कर सकते हैं जो जो iPhone के करंट क्लॉक स्पीड को पढ़ सकते है, या इसके बारे में जान सकता है। इसके अलावा एक ऐप को बढ़िया कहा जा सकता है वह Lirum Device info है। इस ऐप की मदद से आपको इस बारे में सभी जानकारी मिल जायेगी। आइये अब जानते हैं कि इस ऐप को इनस्टॉल करने के बाद आपको किन स्टेप्स को फॉलो करना है।

• जैसे ही आप इस ऐप को ओपन करते हैं तो आपको एक ऐसे स्क्रीन नजर आने लगेगी, जैसी आप यहाँ देख रहे हैं।

• इसके बाद अब आपको Hamburger menu icon पर टैप करना है, जो आपको इस ऐप के टॉप राईट में नजर आ रहा है। यहाँ आप इस ऑप्शन को देख सकते हैं।

• इसके बाद आपको इन सभी ऑप्शन में से CPU मेनू का चुनाव करना है।


बस आपको महज इतना ही करना है और जैसे ही आप CPU मेनू पर क्लिक करते हैं तो आपको यहाँ दो सबसे दिलचस्प चीजें नजर आने वाली हैं। इनमें से पहली है “CPU Actual Clock” और दूसरी है “CPU Maximum Clock।” अब यहाँ अगर यह दोनों नंबर अलग अलग हैं तो आपके फोन के साथ throttle हुआ है। इसके अलावा यहाँ आपको यह भी ध्यान रखना है कि एक्चुअल या तो मैक्सिमम के एक दम बराबर होगी या मैक्सिमम से कम। और अगर यह एक जैसे हैं तो आपका फोन बढ़िया परफॉरमेंस रहा होगा, और अगर ऐसा नहीं हो रहा है तो आप समझ सकते हैं कि एप्पल ने आपके साथ क्या किया है।

निष्कर्ष

इस बात से यह साफ़ हो जाता है कि एप्पल ऐसा अपने फायदे के लिए करता है, फिर चाहे यूजर्स को कितनी भी और किसी भी तरह की परेशानी क्यों न हो जाये। शायद इसके कारण ही आज एप्पल पर इसी मामले को लेकर बहुत से मुक़दमे भी कर दिए गए हैं। तो अगर आपका फोन भी आपको स्लो लग रहा है, या आप इस ऐप की मदद से ऐसा जान पाए हैं तो इस बारे में हमें भी जरुर बताएं, हम आपके जवाब का इंतज़ार करेंगे।

  • Published Date: January 11, 2018 11:00 AM IST