comscore
News

लैपटॉप, स्मार्टफोन का कैमरा कहीं आपकी प्राइवेसी से तो नहीं कर रहा खिलवाड़?

ये पांच तरीके रखेंगें आपकी प्राइवेसी को सेफ।

data-security-stock-image

टेक्नोलॉजी की दिग्गज कंपनियां आज के समय में ग्राहकों को सभी बेसिक जरूरतें एक क्लिक में उपलब्ध करवाने में लगी हुई हैं। स्मार्टफोन में मिलने वाली AI टेक्नोलॉजी इसका सबसे अच्छा उदाहरण है। हालांकि अब इस टेक्नोलॉजी को लेकर प्राइवेसी पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। कुछ दिनोंं पहले एक खबर आई थी कि अमेजन इको स्मार्ट स्पीकर ने अनजाने में एक व्यक्ति को परिवार की निजी बातें भेज दी थी, जो कि इस नई वॉइस-इनेबल्ड टेक्नोलॉजी के रिस्क को हाइलाइट करता है। एेसे रिस्क को पूरी तरह से खत्म करने का कोई तरीका नहीं है। लेकिन हम आपको कुछ टिप्स दे रहे हैं, जिससे आपकी प्राइवेसी रिस्क को कम किया जा सकता है।

1. Mic को बंद करना
ज्यादातर स्मार्ट स्पीकरों में माइक्रोफोन को बंद करने के लिए एक बटन होता है। आप हमेशा निजी बातें शुरू करने से पहले इसको बंद कर सकते हैं। ऐसा करने से यह आपकी बातें रिकॉर्ड नहीं कर पाएगा। इको स्मार्टस्पीकर में बटन क्लिक करने से बटन लाल हो जाता है और बाकी डिवाइस भी लगभग एेसे संकेत देते हैं।

2. Mic के यूज को लिमिटिड रखना
स्मार्टफोन में माइक्रोफोन को बंद करना एक प्रैक्टिकल बात नहीं है, लेकिन आप इसको सीमित कर सकते हैं कि इसका एक्सेस किस ऐप्स को देना है और किसे नहीं। इसके लिए आप सेटिंग्स पर जाएं और वॉयस रिकॉर्ड या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग जैसी सभी जरूरी ऐप्स का Mic एक्सेस बंद कर दें। नेटफ्लिक्स और इसके जैसी अन्य एेप्स को वॉइस एक्सेस की ज्यादा जरूरत नहीं होती क्योंकि आप इनमें शो का नाम टाइप भी कर सकते हैं।

3. कैमरा का रखें खयाल
प्राइवेसी की चिंता सिर्फ आम आदमी को ही नहीं बल्कि टेक एक्सपर्ट को भी होती है। इसका उदाहरण आप फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग से ले सकते हैं। मार्क हमेशा अपने लैपटॉप के कैमरे के ऊपर एक टेप का टुकड़ा चिपका के रखते हैं ताकि अगर कभी कोई भी मार्क के लैपटॉप को हैक करता है तो वह कैमरा या उसके Mic से कोई जरूरी सूचना ना ले पाए। यदि आपके पास एक होम-सिक्योरिटी कैमरा है और वो इंटरनेट से कनेक्ट हो सकता है तो आप जब भी घर पर रहे तो आप उसे बंद करके रखे। घर पर रहने में यह आपकी उन चीजों को भी रिकॉर्ड कर सकता है जिसकी जरूरत नहीं है। बस घर से बाहर जाने से पहले उसे वापस चालू करना याद रखें।

4. सिग्नल को कर सकते है ब्लॉक
आप अपने स्मार्टफोन और अन्य गैजेट्स के जरिए होने वाली जासूसी को रोकने के लिए एक “फैराडे बैग” खरीद सकते हैं, जो इलेक्ट्रो मैगनेटिक तरंगों को ब्लॉक करता है। ये बैग सेलुलर और अन्य सिग्नल को ब्लॉक करते हैं, जिसका मतलब है की आपकी प्राइवेसी से समझौता करने वाली जानकारी जैसे कि आपकी लोकेशन की इंफॉर्मेशन लीक नहीं होगी। बस याद रखें, बैग में होने पर आपके फोन में कोई कॉल भी नहीं आएगी।


5. कोइ भी स्मार्ट प्रोडक्ट खरीदने से पहले कर लें जांच
आजकल सभी टेक्नोलॉजी कंपनियां कोशिश में लगी हैं कि उनके हर प्रोडक्ट में AI और Automation हो जिससे यूजर को ज्यादा मैनुअल काम नहीं करना पड़े। इसका नुकसान यह है कि यूजर को अक्सर उन बातों का पता नहीं होता की उनके गैजेट क्या अच्छा और क्या बुरा कर सकते हैं। इसलिए कोई भी स्मार्ट प्रोडक्ट खरीदने से पहले हमेशा उस प्रोडक्ट के बारे में अच्छे से जांच कर लें या उसके यूट्यूब रिव्यू देख कर ही खरीदनें का फैसला करें।

  • Published Date: May 30, 2018 12:40 PM IST