comscore Aarogya Setu App के बिना नहीं कर पाएंगे हवाई यात्रा, 'ग्रीन स्टेटस' पर ही मिलेगी एयरपोर्ट पर एंट्री
News

Aarogya Setu App के बिना नहीं कर पाएंगे हवाई यात्रा, 'ग्रीन स्टेटस' पर ही मिलेगी एयरपोर्ट पर एंट्री

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अपने दिशा निर्देश में यह साफ किया है कि सभी यात्रियों के फोन में आरोग्य सेतू एप रजिस्टर्ड होना चाहिए। एयरपोर्ट पर एंट्री से पहले CISF या एयरपोर्ट स्टाफ द्वारा यह चैक किया जाएगा। आरोग्य सेतू एप में ग्रीन स्टेटस होने पर ही यात्री को एयरपोर्ट में एंट्री दी जाएगी।

Aarogya Setu app

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) ने एयरलाइन पेसेंजर्स के लिए स्टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (SOP) के तहत हवाई जहाज से यात्रा के लिए आरोग्य सेतू एप (Aarogya Setu) को अनिवार्ड कर दिया है। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने देश में 25 मई से घरेलू यात्रा सेवा शुरू करने के ऐलान के साथ यह जानकारी दी है। मंत्रालय के देश में हवाई यात्रा शुरू करने से पहले एयरलाइन्स और एयरपोर्ट अथॉरिटी को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए हैं। आरोग्य सेतू एप के साथ मास्क, ग्लव्स और थर्मल स्क्रीन को भी अनिवार्य किया गया है। Also Read - Moto G8 Power Lite स्मार्टफोन हुआ लॉन्च, जानिए कीमत और फीचर्स

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अपने दिशा निर्देश में यह साफ किया है कि सभी यात्रियों के फोन में आरोग्य सेतू एप रजिस्टर्ड होना चाहिए। एयरपोर्ट पर एंट्री से पहले CISF या एयरपोर्ट स्टाफ द्वारा यह चैक किया जाएगा। आरोग्य सेतू एप में ग्रीन स्टेटस होने पर ही यात्री को एयरपोर्ट में एंट्री दी जाएगी। यानी अगर आरोग्य सेतू एप पर यूजर का स्टेटस रेड हुआ तो उसे एयरपोर्ट पर एंट्री नहीं दी जाएगी। Also Read - Vivo Y70s में मिलेगा सैमसंग का प्रोसेसर, इस स्पेसिफिकेशन वाला होगा दुनिया का पहला स्मार्टफोन

[/link-to-post] Also Read - Redmi 10X स्मार्टफोन की लॉन्च डेट कंफर्म, इन खूबियों के साथ होगा लॉन्च

14 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य नहीं

घरेलू उड़ानों को फिर से शुरू करने के लिए एयरपोर्ट्स के लिए जारी SOP में कहा गया है कि 14 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य नहीं है। एसओपी में यह भी कहा गया है, ‘‘यात्रियों को हवाईअड्डा टर्मिनल इमारत में प्रवेश से पहले एक निश्चित स्थान पर थर्मल स्क्रीनिंग के लिए स्क्रीनिंग क्षेत्र से अनिवार्य रूप से गुजरना होगा।’’

एयरपोर्ट अथॉरिटी को यात्री के टर्मिनल की इमारत में प्रवेश से पहले उसके सामान के सैनिटाइजेशन के लिए उचित बंदोबस्त करने होंगे। एएआई देश में 100 से अधिक हवाईअड्डों का प्रबंधन देखता है। हालांकि दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरू और हैदराबाद जैसे बड़े हवाईअड्डों का संचालन निजी कंपनियां करती हैं।

एसओपी के अनुसार यात्रियों को उड़ान प्रस्थान के निर्धारित समय से दो घंटे पहले हवाईअड्डे पर पहुंचना होगा और टर्मिनल में केवल उन यात्रियों को प्रवेश की अनुमति दी जाएगी जिनकी उड़ान अगले चार घंटे में प्रस्थान करने वाली है। नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बुधवार को घोषणा की थी कि देश में घरेलू यात्री उड़ान सेवा 25 मई से क्रमिक तरीके से बहाल की जाएगी।

एसओपी के मुताबिक हवाईअड्डा क्षेत्र में प्रवेश से पहले या कार पार्किंग में यातायात पर कड़ी निगरानी रखने के लिए यातायात पुलिस और सीआईएसएफ समन्वय के साथ काम करेंगे ताकि जाम की स्थिति बनने से रोका जा सके और सामाजिक दूरी कायम की जा सके। इसमें कहा गया, ‘‘प्रस्थान और आगमन क्षेत्र में ट्रॉली के इस्तेमाल को हतोत्साहित किया जाए। हालांकि अत्यधिक आवश्यकता होने पर चुनिंदा यात्रियों को अनुरोध पर यह सुविधा दी जाएगी।’’ टर्मिनल के भीतर अखबार या पत्र-पत्रिकाएं उपलब्ध नहीं होंगे। खान-पान के सभी आउटलेट कोविड-19 संबंधी उचित सावधानियों के साथ खुलेंगे।

एएआई ने हवाईअड्डों को निर्देश दिया है कि वे सेंट्रल एसी के बजाए खुली हवा के आनेजाने की व्यवस्था करें। एसओपी में कहा गया है कि बोर्डिंग गेट से यात्रियों को उनकी सीट संख्या के आधार पर समूह बनाकर भेजा जाए ताकि विमान के भीतर भीड़भाड़ की स्थिति न बनें। वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने कहा कि शुरू में 30 प्रतिशत घरेलू उड़ानों को परिचालन की इजाजत दी जाएगी। अधिकारियों ने यह भी कहा कि सरकार सभी हवाई किरायों की सीमा तय कर सकती है ताकि एयरलाइन्स अनाप-शनाप किराया न वसूल सकें।

 

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: May 21, 2020 5:41 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers