comscore Aarogya Setu स्मार्टफोन में इंस्टॉल नहीं है, तो हो सकती है सजा | BGR India Hindi
News

स्मार्टफोन में इंस्टॉल नहीं है आरोग्य सेतु एप? हो सकती है सजा

कोरोना वायरस में लोगों तक सही जानकारी पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने आरोग्य सेतु (Aarogya Setu) एप जारी किया था। इस एप को अब नोएडा में अनिवार्य कर दिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक गौरतमबुद्ध नजर में इस एप को सभी लोगों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है।

Aarogya Setu app

कोरोना वायरस में लोगों तक सही जानकारी पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने आरोग्य सेतु (Aarogya Setu) एप जारी किया था। इस एप को अब नोएडा में अनिवार्य कर दिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक गौरतमबुद्ध नजर में इस एप को सभी लोगों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है। एडिशनल डीसीपी आशुतोष द्विवेदी ने लॉकडाउन के तीसरे चरण के निर्देश जारी करते हुए इस एप को इंस्टॉल करना अनिवार्य कर दियाहै। जिसके तहत यदि किसी व्यक्ति के स्मार्टफोन में यह एप नहीं मिलता है, जो उसे लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन माना जाएगा। Also Read - कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच ये हैं दुनिया के टॉप पांच स्मार्टफोन, Samsung पहले नंबर पर

Aarogya Setu एप को 9 करोड़ से ज्यादा बार किया गया डाउनलोड

रिपोर्ट्स की मानें तो लॉकडाउन उल्लंघन के तहत व्यक्ति पर आईपीसी की धारा 188 और आपदा प्रबंधन नियम 2005 की धारा 51 से 60 के तहत कार्रवाई की जा सकती है। गौरतलब है कि कोरोनो वायरस के संक्रमण के प्रति लोगों को आगाह करने के लिये बनाये गये सरकारी ऐप आरोग्य सेतु (Aarogya Setu) को अब तक करीब नौ करोड़ बार डाउनलोड किया जा चुका है। इस ऐप में जल्दी ही टेलीफोन के माध्यम से चिकित्सक के परामर्श की सुविधा जोड़ी जाने वाली है। Also Read - Google ने Doodle बनाकर लोगों से घर पर रहने, जीवन बचाने, कोरोना वायरस को फैलने से रोकने की अपील की

नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने सोमवार को इसकी जानकारी दी। केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जारी अभियान को मजबूती देने को लेकर सरकारी और निजी क्षेत्र के कर्मचारियों के लिये आरोग्य सेतु मोबाइल एप्लिकेशन का उपयोग करना अनिवार्य कर दिया है। संगठनों के प्रमुखों को यह सुनिश्चित करने के लिये कहा गया है कि यह ऐप सभी कर्मचारियों के फोन में हो। Also Read - Xiaomi ने कोरोनावायरस जैसी महामारी के बावजूद Mi 10 सीरीज के 10 लाख से ज्यादा स्मार्टफोन बेचें

कांत ने कहा, ‘‘आरोग्य सेतु ऐप को अब तक करीब नौ करोड़ बार डाउनलोड किया जा चुका है। इसमें टेलीमेडिसिन (टेलीफोन के माध्यम से चिकित्सक के परामर्श) की सुविधा को जोड़ा जा रहा है।” यह मोबाइल ऐप उपयोगकर्ताओं को यह जानने में मदद करता है कि उन्हें कोरोना वायरस से संक्रमण का खतरा है या नहीं। यह कोरोनो वायरस के संक्रमण से बचने के तरीकों सहित महत्वपूर्ण जानकारी भी लोगों को प्रदान करता है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: May 5, 2020 3:06 PM IST