comscore Assembly Election 2022 में वोटर का हथियार बनेगा cVIGIL ऐप, जानें कैसे करेगा काम
News

Assembly Election 2022 में वोटर का हथियार बनेगा cVIGIL ऐप, जानें कैसे करेगा काम

Chief Election Commissioner सुशील चंद्रा ने इलेक्शन प्रोसेस को डिजिटल करते हुए तीन ऐप्स के बारे में बात की--Suvidha, cVIGIL और Know Your Candidate। Suvidha ऐप का इस्तेमाल इलेक्शन कैंडिडेट के लिए है, जबकि बाकी दोनों ऐप्स जनता के लिए हैं।

assembly elections

Image: Wikimedia Commons


Election Commission of India (ECI) ने हाल ही में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोआ के असेंबली इलेक्शन की डेट अनाउंस की हैं। इस मौके पर Chief Election Commissioner सुशील चंद्रा ने देश में कोविड केस की बढ़ती हुई दर की वजह से पांचों विधान सभा चुनाव में ऑनलाइन प्रोसेस के महत्त्व को उजागर किया। Also Read - 5 राज्यों के चुनाव के लिए Twitter ने की धांसू तैयारी, यूजर्स को मिलेगी इलेक्शन की रियल टाइम डिटेल्स

इन्होंने इलेक्शन प्रोसेस को डिजिटल करते हुए तीन ऐप्स के बारे में बात की–Suvidha, cVIGIL और Know Your Candidate। चंद्रा ने बताया कि Suvidha ऐप का इस्तेमाल इलेक्शन कैंडिडेट के लिए है, जबकि बाकी दोनों ऐप्स जनता के लिए हैं। आइए जानते हैं कि ये तीनों ऐप्स क्या करते हैं और आने वाले विधान सभा चुनाव में इनका क्या महत्त्व होगा। Also Read - Lok Sabha Election 2019: देश की राजधानी दिल्ली समेत 7 राज्यों में वोटिंग शुरू, ऑनलाइन ऐसे ढूंढे अपना पोलिंग बूथ और जानें वोट डालने की पूरी प्रक्रिया

Suvidha app

इलेक्शन कमीशन ने बताया कि Suvidha ऐप को पॉलिटिकल पार्टी और इलेक्शन कैंडिडेट के लिए डेवलप किया गया है। इस ऐप की मदद से कैंडिडेट पोल्स के ऑनलाइन नॉमिनेशन भर सकेंगे। चंद्रा ने कहा कि इस ऐप के इस्तेमाल से फिजिकल कॉन्टैक्ट को कम किया जा सकेगा। इससे पहले दिसंबर 2021 में खबर आई थी कि इलेक्शन कैंडिडेट को रैली के लिए रिक्वेस्ट भी इसी ऐप पर डालनी होगी। फिलहाल इलेक्शन कमीशन ने सभी पार्टियों को ऑनलाइन रैली को वरीयता देने के लिए कहा है। Also Read - Lok Sabha Election 2019: ऐसे करें अपना वोट ऑनलाइन रजिस्टर

cVIGIL app और Know Your Candidate

Chief Election Commissioner सुशील चंद्रा ने cVIGIL ऐप के बारे में भी बताया। इस ऐप के नाम का मतलब है– Vigilant Citizen और यह ऐप आने वाले इलेक्शन को निष्पक्ष बनाने की तरफ जनता को ताकत देती है। इसकी मदद से यूजर्स आचार संहिता के उल्लंघन के बारे में इलेक्शन कमीशन को बता सकते हैं। चंद्रा ने कहा:

“सी-विजिल ऐप्लिकेशन का उपयोग मतदाताओं द्वारा आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन, धन के वितरण और मुफ्त उपहारों की किसी भी घटना की रिपोर्ट करने के लिए किया जाना चाहिए। शिकायत के 100 मिनट के भीतर चुनाव आयोग के अधिकारी अपराध स्थल पर पहुंच जाएंगे।”

cVIGIL ऐप मौजूदा वक्त पर गूगल प्ले स्टोर और एप्पल ऐप स्टोर पर मौजूद है। चंद्रा ने वोटर्स के लिए एक और ऐप — Know Your Candidate — का भी ऐलान किया, जिसकी मदद से जनता इलेक्शन कैंडिडेट के बारे में जानकारी निकाल पाएगी। अभी इस ऐप के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं आई है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: January 9, 2022 5:12 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers