comscore कोविड-19 मरीजों के लिए खाली बिस्तरों की जानकारी देने के लिए ‘दिल्ली कोरोना’ एप लॉन्च
News

कोविड-19 मरीजों के लिए खाली बिस्तरों की जानकारी देने के लिए ‘दिल्ली कोरोना’ एप लॉन्च

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 'दिल्ली कोरोना' एप को लॉन्च करते हुए कहा कि निजी और सरकारी अस्पतालों में 6,731 बिस्तर उपलब्ध हैं, जिनमें से 4,100 खाली हैं। उन्होंने कहा, ‘‘लोगों को इसकी जानकारी नहीं है। हम आज एक ऐप जारी कर रहे हैं और इसमें निजी और सरकारी अस्पतालों में खाली बिस्तरों, वेंटिलेटर और आईसीयू की पूरी जानकारी है।’’

Delhi Corona

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने निजी और सरकारी अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों के लिए खाली बिस्तरों (बेड) की जानकारी देने के लिए ‘दिल्ली कोरोना’ ऐप शुरू किया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगर ऐप में बिस्तर खाली दिखाए जाने के बावजूद अस्पताल मरीज को भर्ती करने से मना कर दे तो आप 1031 नंबर पर फोन कर शिकायत दर्ज करा सकते हैं और विशेष सचिव (स्वास्थ्य) इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि मरीज को बिस्तर मिले। केजरीवाल ने कहा कि ऐप से कोरोना वायरस के मरीजों के लिए उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी मुहैया कराने में मदद करेगी। Also Read - अनोखे कैमरे के साथ लॉन्च हुआ Vivo X50 Pro+ स्मार्टफोन, जानें खूबियां और कीमत

मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘कई ऐसी जगह हैं, जहां कोरोना वायरस का व्यापक प्रकोप है। वहां बिस्तरों, वेंटिलेटर और आईसीयू की कमी है, जिसकी वजह से बड़ी संख्या में लोगों की जान जा रही है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन हमने वेंटिलेटर और बिस्तरों की पर्याप्त व्यवस्था की है। हम कोरोना वायरस से कई कदम आगे हैं।’’ Also Read - AnTuTu के मई 2020 के टॉप 10 फ्लैगशिप स्मार्टफोन: Xiaomi, Oneplus को पछाड़ ये है नंबर 1 फोन

केजरीवाल ने कहा कि निजी और सरकारी अस्पतालों में 6,731 बिस्तर उपलब्ध हैं, जिनमें से 4,100 खाली हैं। उन्होंने कहा, ‘‘लोगों को इसकी जानकारी नहीं है। हम आज एक ऐप जारी कर रहे हैं और इसमें निजी और सरकारी अस्पतालों में खाली बिस्तरों, वेंटिलेटर और आईसीयू की पूरी जानकारी है।’’ Also Read - OnePlus Z स्मार्टफोन गीकबेंच पर आया नजर, मिल सकते हैं ये स्पेसिफिकेशन्स

केजरीवाल ने कहा कि इसे दिन में दो बार सुबह 10 बजे और शाम छह बजे अपडेट किया जाएगा। केजरीवाल ने कहा कि अगर ऐप में बिस्तर खाली दिखाए जाने के बावजूद अस्पताल मरीज को भर्ती करने से मना कर दे तो आप 1031 नंबर पर फोन कर शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘20,000 से अधिक लोगों में से केवल 2,600 को ही अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ी। अगर अस्पताल वाले कहते हैं कि आपका घर पर इलाज हो सकता है तो आप उनकी बात मानें।’’ सरकार ने एक दल का गठन किया है जो पृथक-वास के दौरान मरीज के सम्पर्क में रहेगी और अगर मामला बिगड़ा तो वह उसे अस्पताल में भर्ती कराएगी। केजरीवाल ने पिछले सप्ताह यह ऐप लाने की घोषणा की थी।

इनपुट – पीटीआई भाषा

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: June 3, 2020 11:05 AM IST



new arrivals in india

Best Sellers