comscore फ्लिपकार्ट इस साल 20-30 प्रतिशत ज्यादा लोगों को नौकरियां देगी | BGR India
News

फ्लिपकार्ट इस साल 20-30 प्रतिशत ज्यादा लोगों को नौकरियां देगी

फ्लिपकार्ट पिछले साल के मुकाबले 2017 में 20-30 प्रतिशत ज्यादा नौकरियां देगी।

  • Updated: February 15, 2022 3:49 PM IST

ई-वाणिज्य कंपनी फ्लिपकार्ट पिछले साल के मुकाबले 2017 में 20-30 प्रतिशत ज्यादा नौकरियां देगी। हालांकि उसकी प्रतिद्वंदी कंपनी स्नैपडील ने अपने कर्मचारियों को नौकरी से निकाले जाने के पत्र दे दिए हैं। भारतीय बाजार में शीर्ष स्थान पाने के लिए अमेरिका की अमेजन से दो-दो हाथ कर रही बेंगलुरू की फ्लिपकार्ट इस साल अधिक लोगों को नौकरी देगी। Also Read - 64MP कैमरा, 5000mAh बैटरी, 8GB RAM वाले Samsung Galaxy A32 पर 'बंपर' ऑफर, Amazon-Flipkart पर सस्ते में खरीदने का मौका

Also Read - Best Phone under 40000 in Flipkart sale: 108MP कैमरा, 120W फास्ट चार्जिंग, 12GB RAM और 5000mAh बैटरी वाले फोन पर मिल रहा तगड़ा Discount, कीमत 40000 रुपये से कम

कंपनी के मुख्य परिचालन अधिकारी नितिन सेठ ने पीटीआई-भाषा से कहा कि 2017 में नौकरियां देने की हमारी योजनाएं हमारे वृद्धि के आकलनों पर निर्भर हैं और यह पिछले साल के मुकाबले 20 से 30 प्रतिशत अधिक रहने की संभावना है। Also Read - Top 5 Phones under 50,000 in Flipkart Sale: 108MP कैमरा, 6000mAh बैटरी, और 150W फास्ट चार्जिंग वाले 50 हजार रुपये तक के फोन्स पर मिल रहा भरपूर Discount

इसे भी देखें: 10 हजार रुपए के शानदार डिस्काउंट के बाद अब महज़ इस कीमत में मिल रहे हैं आईफोन 7 और 7 प्लस

गौरतलब है कि ऑनलाइन रिटेलर मसलन फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और अमेजन ने एक साथ मिलकर जीएसटी कानून के मसौदे में स्रोत पर कर कटौती :टीसीएस: नियमों पर चिंता जताई है। टीसीएस के तहत ई-कामर्स मार्केटप्लेस में विक्रेता को किए जाने वाले भुगतान का एक हिस्सा काटकर उसे सरकार के पास जमा कराना होगा। कंपनियों का कहना है कि इससे सालाना 400 करोड़ रुपए की राशि फंस जाएगी। इससे दुकानदार ऑनलाइन बिक्री से हतोत्साहित होंगे। जीएसटी कानून के इस आदर्श मसौदे को इस महीने के अंत तक अंतिम रूप दिया जाना है।

इसे भी देखें: सैमसंग गैलेक्सी एस7 में फिर हुआ ब्लास्ट

फ्लिपकार्ट के सह संस्थापक सचिन बंसल ने यहां फिक्की के एक कार्यक्रम में संवाददाताओं से कहा, ’‘हमारा मानना है कि हमने पूरे पारिस्थितिकी तंत्र में उल्लेखनीय अंतर पैदा किया है। सैंकड़ो और हजारों ऑनलाइन विक्रेता हैं और इनमें से कई उद्यमी हैं। कुछ ऑफलाइन रिटेलर हैं।’’ उन्होंने कहा कि ई-कामर्स उद्योग का मानना है कि जीएसटी आगे की सोच वाली कर पहल है और इसका क्षेत्र पर बदलाव लाने वाला प्रभाव होगा।

इसे भी देखें: एप्पल आईफोन 8 में होगी 5.8-इंच ओएलईडी स्क्रीन: रिपोर्ट

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: March 7, 2017 7:00 AM IST
  • Updated Date: February 15, 2022 3:49 PM IST



new arrivals in india