comscore
News

ऑस्ट्रेलिया में फेसबुक और गूगल को करना पड़ सकता है जांच का सामना

ऑस्ट्रेलियाई कॉम्पटीशन एंड कंज्यूमर कमीशन (एसीसीसी) का कहना है कि गूगल और फेसबुक के मैकेनीज्म को मॉनिटर करने की जरूरत है।

Facebook used less for news as youngsters turn to WhatsApp: Report

गूगल और फेसबुक को ऑस्ट्रेलिया में जांच का सामना करना पड़ रहा है।ऑस्ट्रेलिया के एक कमीशन ने गूगल और फेसबुक को मॉनिटर करने की आवश्यकता बताई है, ताकि ये टेक कंपनियां अपनी शक्ति का दुरुपयोग न कर सकें। ऑस्ट्रेलिया के कॉम्पटीशन एंड कंज्यूमर कमीशन का कहना है कि गूगल और फेसबुक पर नजदीक से नजर रखनी चाहिए ताकि वो अपने एल्गोदरम में चारों तरफ पारदर्शिता की कमी न कर सकें। ऑस्ट्रेलियाई कॉम्पटीशन एंड कंज्यूमर कमीशन (एसीसीसी) का कहना है कि गूगल और फेसबुक के मैकेनीज्म को मॉनिटर करने की जरूरत है, ताकि ये पता चल सके कि ये कंपनियां किस तरह से एड और न्यूज कंटेंट को किस तरह से डिस्प्ले करती हैं।

एसीसीसी का कहना है कि फेसबुक और गूगल के एक्टिविटी को मॉनिटर करने का टास्क किसी नए या मौजूदा रेगुलेटरी अथॉरिटी को दे देना चाहिए। एसीसीसी ने तर्क दिया है कि फेसबुक और गूगल के मांग नियामक में वृद्धि हुई है। यानी फेसबुक और गूगल को मॉनिटर करने की मांग में इजाफा हुआ है। ये कंपनियां अपने रेवेन्यू का ज्यादातर हिस्सा विज्ञापन के जरिए ही कमाती हैं।

News.com.au. से बातचीत करते हुए एसीसीसी के चेयरमैन रॉड सिम्स का कहना है कि ऑस्ट्रेलियाई कानून किसी व्यापार को महत्वपूर्ण बाजार शक्ति रखने या प्रतिस्पर्धा करने के लिए अपनी क्षमताओं या कौशल का उपयोग करने से रोकता नहीं है। लेकिन, जब उनकी डॉमिनेंट पॉजिशन कंज्यूमर्स का नुकसान करती है तो वो कंज्यूमर्स और बिजनेस का बचाव, रेगुलेशन के जरिए करते हैं।

  • Published Date: December 10, 2018 1:16 PM IST