comscore Google ने Mitron app को Play Store से रिमूव किया, जानें क्या है कारण | BGR India Hindi
News

Google ने Mitron app को Play Store से रिमूव किया, जानें क्या है कारण

Google removed Mitron app from Play Store: Mitron app को पिछले दिनों काफी पॉप्युलेरिटी मिली थी। हालांकि इसमें सिक्योरिटी को लेकर काफी मसले थे, लेकिन अब इस एप को प्ले स्टोर से रिमूव कर लिया गया है। गूगल ने कहा है कि उसने इस एप को प्ले स्टोर से इसलिए डिलीट किया है क्योंकि यह एप उसकी पॉलिसी का वॉयलेशन कर रही थी। कहा जा रहा है कि  Mitron एप कंपनी की स्पैम औप मिनिमम फंक्शनेलिटी पॉलिसी का उल्लघंन कर रही थी।Mitron App पर मिली कई खामियों के बाद गूगल ने इस एप को अनपब्लिश कर दिया है। 

Mitron App Lead

Mitron app को पिछले दिनों काफी पॉप्युलेरिटी मिली थी। हालांकि इसमें सिक्योरिटी को लेकर काफी मसले थे, लेकिन अब इस एप को प्ले स्टोर से रिमूव कर लिया गया है। गूगल ने कहा है कि उसने इस एप को प्ले स्टोर से इसलिए डिलीट किया है क्योंकि यह एप उसकी पॉलिसी का वॉयलेशन कर रही थी। कहा जा रहा है कि Mitron एप कंपनी की स्पैम औप मिनिमम फंक्शनेलिटी पॉलिसी का उल्लघंन कर रही थी।Mitron App पर मिली कई खामियों के बाद गूगल ने इस एप को अनपब्लिश कर दिया है।  हालांकि आपको बता दें कि इस ऐप को TikTok एप के राइवल के रूप में देखा जा रहा था, बाद में जानकारी मिली थी कि यह एप पाकिस्तान का है।
गूगल की पॉलिसी कहती हैं कि अगर किसी दूसरी एप्लिकेशन का कंटेंट बिना किसी एडिशन के कॉपी किया जाता है तो वह अनुचित है। वह अपने प्लेटफॉर्म पर ऐसी किसी भी एप को जगह नहीं देता है। खबरों के मुताबिक Mitron एप के सोर्स कोड को पाकिस्तान की सॉफ्टवेयर डेवलपर कंपनी Qboxus से खरीदा गया है। Also Read - गूगल ने Remove China Apps को प्ले स्टोर से क्यों रिमूव किया

Qboxus के सीईओ इरफान शेख के मुताबिक इन सोर्स कोड में एप से सभी फीचर और यूजर इंटरफेस शामिल है। उनकी कंपनी ने इस एप के सोर्ड कोड Mitron एप के प्रमोटर्स को 34 डॉलर (करीब 2,600 रुपये) में बेचा है। इससे पहले रिपोर्ट में पता चला था कि Mitron एप को IIT रुड़की स्टूडेंट ने डेवलप नहीं किया है और यह TicTic का रिब्रांड़ वर्जन था, जिसे पाकिस्तान में तैयार किया गया था।  इससे पहले रिपोर्ट्स की मानें तो इस एप को एक महीने में टिकटॉक पर 50 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका था। Also Read - देसी नहीं मेड इन पाकिस्तान है Mitron App, जानें क्या है पूरा मामला

शॉर्ट वीडियो शेयरिंग एप ‘मित्रों’ कम समय में काफी चर्चित हो गया था। आपको ध्यान होगा कि इस नाम का इस्तेमाल प्रधानमंत्री कई बार अपने भाषणों में कर चुके हैं। एप के डिस्क्रिप्शन में बताया गया है कि मित्रों का उद्देश्य एक ऐसा प्लेटफॉर्म तैयार करना है, जहां लोग आकर अपने लिए और दूसरों के लिए मनोरंजन का वीडियो बना सकते हैं। बता दें कि पिछले कुछ वक्त से टिकटॉक का बुरा दौर चल रहा है और हाल में ही इस एप की रेटिंग गूगल प्ले स्टोर पर गिर गई थी।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: June 3, 2020 8:07 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers