comscore
News

सरकार ने कहा- भ्रामक संदेशों के खिलाफ Google, Twitter, WhatsApp और Facebook उठाए ठोस कदम

सरकार ने गूगल, ट्विटर और व्हॉट्सएप से अफवाह फैलाकर माहौल बिगाड़ने वाले संदेशों को चेक करने के लिए कहा है।

social-media-image

सरकार ने गूगल, ट्विटर और व्हॉट्सएप से अफवाह फैलाकर माहौल बिगाड़ने वाले संदेशों को चेक करने के लिए कहा है। सरकार ने इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से ऐसे संदेशों को चेक करने के लिए कहा है जिनकी वजह से अशांति फैल रही है। सरकार ने इन विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्स से अफवाह और अशांति फैलाने वाले संदेशों को लेकर कठोर कदम उठाने के लिए कहा है।

सरकार ने गुरुवार को इन सोशल मीडिया साइट्स से कहा कि वो अफवाह, अशांति, साइबर क्राइम व दूसरी गतिविधियों के जरिए राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने वाले संदेशों व अफवाहों को चेक करें और इनको रोकने के लिए ठोस कदम उठाये। इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में फेसबुक और इंस्टाग्राम भी शामिल है। अधिकारियों का कहना है कि इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से कहा गया है कि लॉ इनफोर्समेंट एजेंसीज को फौरन जानकारी साझा कर सकें, इसके लिए एक सिस्टम बनाया जाए।


बता दें कि भारत में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए फैलने वाली अफवाह कानून के लिए एक बड़ी समस्या बन गई है। इससे न सिर्फ सामाजिक व्यवस्था गड़बड़ा रही है, बल्कि धार्मिक विद्वेष की भावना भी फैल रही है। कई बार देखा गया है कि व्हॉट्सएप के जरिए फैलने वाले संदेशों की वजह से हिंसक झड़पें और दंगे तक की नौमत सामने आ गई। ऐसे संदेशों से महिलाओं के खिलाफ अपराध भी बढ़ रहे हैं। लेकिन, सबसे बड़ी समस्या है कि इन सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के हेडक्वार्टर्स भारत से बाहर है, जिसकी वजह से उचित कानूनी कदम उठाने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा कई बार पुलिस को इन प्लेटफॉर्स से अपराध से जुड़े डाटा को मांगने के लिए भी मशक्कत करनी पड़ती है।

  • Published Date: October 26, 2018 11:24 AM IST