comscore एंड-टु-एंड एन्क्रिप्शन के बावजूद कैसे लीक हो जाती हैं WhatsApp चैट?
News

एंड-टु-एंड एन्क्रिप्शन के बावजूद कैसे लीक हो जाती हैं WhatsApp चैट?

एंड-टु-एंड एन्क्रिप्शन चैट के सिक्योरिटी स्ट्रक्चर को तोड़ना बहुत मुश्किल काम है। मगर इसे तोड़े बिना भी WhatsApp चैट कई तरह से लीक हो सकती है। आइए इन सभी संभावनाओं पर नजर डाल लेते हैं।

whatsapp

WhatsApp दावा करता है कि इसके प्लैटफॉर्म पर होने वाली सभी चैट्स एंड-टु-एंड एनक्रिप्टेड हैं, यानी कि मैसेज भेजने वाले और रिसीव करने वाले के अलावा कोई तीसरी पार्टी इसे नहीं पढ़ सकती, यहां तक कि खुद WhatsApp भी नहीं। मगर लगभग हर विवाद में प्राइवेट WhatsApp चैट लीक हो जाती हैं, जिनके स्क्रीनशॉट हर तरफ घूमना शुरू कर देते हैं। Also Read - WhatsApp से भी बुक कर पाएंगे Uber राइड, बस करना होगा एक मैसेज

अगर WhatsApp चैट इतनी सिक्योर हैं तो ये लीक कैसे हो जाती हैं? हम इसके सभी पहलुओं को देखेंगे। शुरुआत करते हैं एंड-टु-एंड एन्क्रिप्शन से। Also Read - WhatsApp ने बैन किए 20 लाख से ज्यादा भारतीय अकाउंट्स, आखिर क्या है वजह

क्या है एंड-टु-एंड एन्क्रिप्शन?

एंड-टु-एंड एन्क्रिप्शन एक तरह का लॉक सिस्टम है, जो इस बात की पुष्टि करता है कि मैसेज भेजने और रिसीव करने वाले के अलावा कोई तीसरा जन इन्हें न पढ़ सके। यह सिस्टम सिग्नल प्रोटोकॉल कहलाता है और WhatsApp की तरह कई सारे अन्य मैसेजिंग ऐप्स में भी मौजूद है। Also Read - WhatsApp Tricks: भूल गए हैं अपना UPI Pin तो न हों परेशान, ऐसे बदलें

एंड-टु-एंड एन्क्रिप्शन के साथ जो मैसेज भेजे जाते हैं, उस पर एक लॉक लग जाता है। यह मैसेज प्लैटफॉर्म के सर्वर से होते हुए रिसीवर के पास पहुंचता है। रिसीवर के पास इस लॉक की चाबी होती है, जिसकी वजह से मैसेज सिर्फ रिसीवर के ऐप पर दिखाई पड़ता है। WhatsApp का कहना है कि रिसीवर के अलावा इस मैसेज को कोई भी नहीं पढ़ सकता, यहां तक कि खुद WhatsApp भी नहीं।

कैसे होती हैं WhatsApp चैट लीक

एंड-टु-एंड एन्क्रिप्शन चैट के सिक्योरिटी स्ट्रक्चर को तोड़ना बहुत मुश्किल काम है। मगर इसे तोड़े बिना भी WhatsApp चैट कई तरह से लीक हो सकती है। आइए इन सभी संभावनाओं पर नजर डाल लेते हैं।

Spyware: स्पाईवेयर अटैक, जो आपके फोन को हैक करने में कामयाब हो जाते हैं, वो आपकी WhatsApp चैट भी पढ़ सकते हैं। यहां पर हैकर को आपके फोन का एक्सेस मिल जाता है, जिसके बाद WhatsApp समेत बाकी सभी फोन के फंक्शन इनसे दूर नहीं रहते। इस्राइल के NSO ग्रुप का बनाया हुआ मिलिट्री ग्रेड पेगासस स्पाईवेयर फोन की सिक्योरिटी को भेदकर WhatsApp चैट को एक्सेस करने में कामयाब रहा है।

Remote Access: अगर कोई हैकर आपके फोन का रिमोट एक्सेस पाने में कामयाब हो जाता है तो यहां भी आपकी WhatsApp चैट लीक हो सकती हैं। इस काम में हैकर्स की मदद खास तौर पर बनाए हुए कम्प्यूटर प्रोग्राम या रिमोट एक्सेस वाले ऐप्स कर सकते हैं। रिमोट एक्सेस ऐप्स दूसरे के फोन या लैपटॉप में झांकने का मौका देते हैं, मगर इसके लिए यूजर को खुद सामने वाले को इसकी पर्मीशन देनी होती है।

Screenshot: आप जिनके साथ चैट कर रहे हैं, वो उसके स्क्रीनशॉट लेकर बाहर शेयर कर सकते हैं।

Phone Handover: अगर किसी तीसरे शख्स को आपका या आपकी चैट जिससे चल रही है, उसका फोन मिल जाए, तब चैट लीक हो सकती हैं। अगर यूजर ने चैट डिलीट कर दी हों, तब भी इन्हें फोन में मौजूद चैट के लोकल बैकअप की मदद से रिकवर किया जा सकता है।

Cloud Chat Backup: WhatsApp ने हाल ही में चैट के क्लाउड बैकअप पर एन्क्रिप्शन का सिस्टम चालू किया है। मगर इससे पहले यह सिस्टम मौजूद नहीं था, जिसके चलते लगभग हर मामले में लोगों की सालों पुरानी चैट सामने आ चुकी हैं। अगर आप चैट्स को फोन से डिलीट भी कर दें तो क्लाउड बैकअप से इन्हें रिकवर किया जा सकता है।

क्या WhatsApp किसी को आपकी एन्क्रिप्टेड चैट दे सकता है

WhatsApp जिस देश में काम करता है, वहां के कानून को उसे मानना पड़ता है। जरूरत पड़ने पर पुलिस, सरकार या जांच एजेंसियां इससे जानकारी मांग सकती हैं। ऐसे वक्त में WhatsApp जानकारी मुहैया भी कराता है, जिनमें आपका नाम, प्रोफाइल फोटो, अकाउंट खोलने की तारीख, लास्ट सीन, IP अड्रेस, ईमेल अड्रेस, आपने किसे-किसे ब्लॉक किया है, अबाउट इन्फॉर्मेशन और ग्रुप इन्फॉर्मेशन शामिल होती हैं। कुछ स्पेशल मौकों पर WhatsApp यह भी बता सकता है कि आपने किस शख्स से कितने बजे और कितनी देर तक चैट की। मगर इनमें यूजर की चैट शामिल नहीं होतीं। ऐसा इसलिए क्योंकि WhatsApp खुद यूजर की चैट को नहीं पढ़ सकता।

इसके साथ ही जब आपका भेजा हुआ मैसेज सेंड हो जाता है तो यह WhatsApp के सर्वर से गायब हो जाता है। ये मैसेज सिर्फ सेंडर और रिसीवर के फोन पर होते हैं। बैकअप ऑन होने की सूरत में ये क्लाउड पर भी हो सकते हैं। WhatsApp कहता है कि जो मैसेज डिलिवर नहीं हो पाते, वो उसके सर्वर से 30 दिन बाद हटा दिए जाते हैं। इसलिए एन्क्रिप्टेड चैट्स को WhatsApp खुद लीक नहीं कर सकता।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: November 1, 2021 5:10 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers