comscore
News

स्मार्टफोन में भारतीय ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं तो हो जाएं सावधान!

Arrka कंस्लटिंग की एनुअल स्टडी से इस बात का खुलासा हुआ है कि इंडियन एंड्रॉइड ऐप्स यूजर्स का जरूरत से ज्यादा डाटा सेव कर लेती हैं जिसकी उन्हें कोई जरूरत नहीं होती है।

android-apps

Image Credit: Pixabay


आज स्मार्टफोन हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा है। स्मार्टफोन में हम कई ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं। ऐप्स सही ढंग से काम करने के लिए यूजर्स का डाटा भी लेती हैं। हालांकि यहां सवाल यह उठता है कि आखिर ऐप को यूजर्स का कितना डाटा चाहिए जिससे वह सही ढंग से काम कर सके। कई ऐप्स यूजर्स का जरूरत से ज्यादा डाटा ले लेती हैं जिसकी उन्हें कोई जरूर नहीं होती है।

अब एक नई रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि भारतीय ऐप्स दुनियाभर की ऐप्स से अधिक यूजर्स का डाटा अपने पास सेव कर लेती हैं। Arrka कंस्लटिंग की एनुअल स्टडी से इस बात का खुलासा हुआ है। यह एक डाटा सिक्योरिटी प्लेटफॉर्म है।

रिपोर्ट के मुताबिक कुछ भारतीय एंड्रॉइड ऐप्स ग्लोबल ऐप्स के मुकाबले 45% अधिक डाटा की परमीशन मांगती हैं। इसमें SMSes, हार्डवेयर जैसे माइक्रोफोन, कैमरा, कॉन्टैक्ट्स और कॉल लॉग की परमीशन शामिल हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इनमें से एक तिहाई चीजों की भारतीय ऐप्स को कोई जरूरत नहीं है। दरअसल पिछले कुछ समय से ऐप्स कंपनियों के यूजर्स के डाटा को लीक करने की घटनाएं बढ़ गई हैं जिसके बाद से लोगों की प्राइवेसी लीक होेने का खतरा भी बढ़ गया है। ऐप्स कंपनियों के पास यूजर्स का डाटा सेव होता है।

  • Published Date: December 7, 2018 1:49 PM IST