comscore Koo ऐप के यूजर्स का आंकड़ा डेढ़ करोड़ के पार, अब दूसरे देशों में एट्री की तैयारी
News

Koo ऐप के यूजर्स का आंकड़ा डेढ़ करोड़ के पार, अब दूसरे देशों में एट्री की तैयारी

पिछले साल लॉन्च हुई Koo देसी ऐप को काफी पसंद किया जा रहा है। इसने 1.5 करोड़ यूजर्स बेस का आंकड़ा पार कर लिया है। अब कंपनी भारत के साथ-साथ अन्य बाजारों में इसका विस्तार करना चाहती है।

  • Published: October 25, 2021 9:47 AM IST
Koo App

How to get yellow tick on Koo app


Koo App को देश में काफी पसंद किया जा रहा है। इस देसी माइक्रोब्लॉगिंग ऐप के यूजर्स का आंकड़ा 15 मिलियन यानी 1.5 करोड़ के पार पहुंच गया है। Also Read - Twitter ने Parag Agrawal के CEO बनते ही अपनी पॉलिसी को किया अपेडट, अब बिना परमिशन शेयर नहीं कर पाएंगे निजी फोटो

इसका मतलब है कि इस देसी ऐप को 1.5 करोड़ यूजर्स यूज कर रहे हैं। इसे भारत के केंद्रीय मंत्रियों और विभिन्न सरकारी विभागों द्वारा सपोर्ट मिलने पर ऐप के यूजर्स की संख्या में काफी इजाफा हो रहा है। बता दें कि यह एक भारतीय माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है और ट्विटर का प्रतिद्वंद्वी है। Also Read - भारतीय मूल के CEO के हाथ में है, Twitter, Google, Microsoft समेत इन 10 दिग्गज टेक कंपनियों की बागडोर

Koo ऐप अब यहां उतरने की कर रहा तैयारी

इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के सह-संस्थापक अप्रमेय राधाकृष्ण ने कहा कि केवल अंतिम तिमाही में ही ऐप के 5 मिलियन (लगभग 50 लाख) यूजर्स होने से इसकी लोकप्रियता काफी बढ़ गई है। ऐप अब भारत के अलावा और जगहों पर विस्तार करना चाहती है। कंपनी की योजना भारत में ध्यान बनाए रखने के साथ-साथ जून, 2022 के बाद दक्षिण पूर्व एशियाई बाजार में कदम रखने की भी है। Also Read - Twitter के नए CEO Parag Agrawal से जुड़ी खास बातें, जो आपको जरूर जाननी चाहिए

राधाकृष्ण का कहना है कि वे दक्षिण एशिया में भी प्रयोग करेंगे। अभी दक्षिण एशिया के किस देश में प्रयोग किया जाएगा यह तय नहीं किया गया है, लेकिन वे निश्चित रूप से अगले साल की दूसरी छमाही में एक नए बाजार में उतरना चाहेंगे।

नाइजीरिया में भी उपलब्ध है Koo App

बता दें कि Koo App भारत के साथ-साथ नाइजीरिया में भी उपलब्ध है। इस साल की शुरुआत में ही इसने वहां कदम रखा है। ऐप को वहां भी पसंद किया जा रहा है। राधाकृष्ण का कहना है कि वह इस समय नाइजीरिया के सांस्कृतिक पहलुओं को समझने की कोशिश में लगे हुए हैं। इस ऐप को राधाकृष्ण और मयंक बिदावतका ने मार्च, 2020 में लॉन्च किया गया था। लॉन्चिंग के 18 महीने के अंदर ही ऐप ने 1 करोड़ यूजर का आंकड़ा पार कर लिया था। Koo ऐप हिंदी, कन्नड़, मराठी, तमिल, तेलुगु, असमिया, बांग्ला और अंग्रेजी जैसी भाषाओं में उपलब्ध है।

ऐप अन्य क्षेत्रों में भी अपनी जगह बनाने की कोशिश कर रहा है। राधाकृष्ण ने कहा कि इंडोनेशिया, मलेशिया और फिलीपींस उन बाजारों में शामिल हैं, जिन पर कू की नजर बनी हुई है। अभी ऐप इन बाजारों को समझ रहा है। उसके आधार पर अंतिम फैसला किया जाएगा।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: October 25, 2021 9:47 AM IST



new arrivals in india

Best Sellers