comscore
News

बैन हटने के बाद भी App Store और Google Play स्टोर में अभी भी डाउनलोड के लिए उपलब्ध नहीं है TikTok

मद्रास हाईकोर्ट ने हाल में अपने ऑर्डर को बदलते हुए TikTok ऐप से बैन को हटा दिया था।

TikTok

मद्रास हाईकोर्ट ने हाल में अपने ऑर्डर को बदलते हुए TikTok ऐप से बैन को हटा दिया था, लेकिन अभी भी यह ऐप गूगल प्ले स्टोर और एप्पल एप स्टोर पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध नहीं हुआ है। खबर लिखे जाने तक यह गूगल प्ले स्टोर और एप्पल एप स्टोर पर डाउनलोड के लिए नहीं आ रहा था। इससे पहले मद्रास हाईकोर्ट ने 24 अप्रैल को अपने फैसले में Tik Tok एप पर बैन हटा दिया था। इससे पहले कोर्ट ने अपने 3 अप्रैल के फैसले में टिकटॉक पर बैन लगा दिया था। कोर्ट के इस फैसले के बाद इसे ऐप स्टोर से हटा दिया गया था। हालांकि कंपनी ने अपनी दलील में कहा था कि उसके प्लेटफॉर्म पर ऐसा सिस्टम मौजूद है जो अश्लील कंटेंट को प्लेटफॉर्म पर डाउनलोड होने से रोकता है। इससे पहले कोर्ट ने इस ऐप पर अश्लील कंटेंट को बढ़ावा देने और युवाओं पर नकरात्मक असर पड़ने के कारण इस ऐप पर रोक लगा दी थी।
Tik Tok एप पर बैन लगाने के अपने फैसले की व्याख्या करते हुए मद्रास हाई कोर्ट ने बताया था कि उसने यह कदम अश्लील सामग्री को अवरुद्ध करने के लिए लगाया था। हाईकोर्ट में सुनवाई कर रही बेंच ने कहा कि वह केवल बच्चों के खिलाफ होने वाले आपराधिक कृत्यों के लिए परेशान है। हालांकि TikTok ने अपनी सफाई में कहा कि उसके ऐप में सिक्योरिटी सिस्टम है जो अश्लील कंटेंट को ब्लॉक करता है। लेकिन इसके बाद 24 अप्रैल को कोर्ट ने अपने फैसले को बदल दिया था।

मद्रास हाई कोर्ट द्वारा Tik Tok एप पर अंतरिम बैन लगाने के बाद कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट में दाचिका दायर की थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा था कि अभी मामला मद्रास हाई कोर्ट में विचाराधीन है और ऐसे में सुप्रीम कोर्ट ने मद्रास हाई कोर्ट द्वारा सुनाए फैसले को सुरक्षित रखते हुए 24 अप्रैल को फैसले को रिव्यू करने को कहा था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अगर 24 अप्रैल तक मद्रास हाई कोर्ट कोई फैसला नहीं लेती है तो भारत में TikTok ऐप पर बैन हट जाएगा। लेकिन 24 अप्रैल को मद्रास हाईकोर्ट ने अपने बैन के फैसले को बदल दिया।

Tic Tok ने सुप्रीम कोर्ट में एप पर बैन हटाने की अपील करते हुए सुप्रीम कोर्ट में दलील दी थी कि यदि एप पर बैन लगाया जाता है तो इससे 250 लोगों की नौकरी जा सकती है। Tik Tok एक चाइनीज एप है, जिसके भारत में 10.4 करोड़ यूजर्स हैं। इस एप पर इंडोनेशिया और बांग्लादेश जैसे देशों में पहले से ही बैन है। बता दें कि ये एप छोटे शहरों और गांवों में काफी लोकप्रिय है। जिसमें यूजर्स 15 सेकेंट तक का वीडियो बना कर शेयर करते हैं। यूजर्स इस एप के माध्यम से डांसिंग, सिंगिंग और फनी वीडियो तैयार करते हैं।

  • Published Date: April 26, 2019 1:37 PM IST