comscore WhatsApp ने भारत के 500 गांवों को लिया गोद, जानिए क्या है इनका प्रोजेक्ट?
News

WhatsApp ने भारत के 500 गांवों को लिया गोद, जानिए क्या है इनका प्रोजेक्ट?

WhatsApp ने भारत के 500 गांवों को गोद लेने का ऐलान किया है। ऐप महाराष्ट्र और कर्नाटक के 500 गांवों को गोद लेकर उन्हें डिजिटल पेमेंट के मामले में सशक्त करेगा। आइए जानते हैं ऐप ने क्या कुछ फैसला किया है।

WhatsApp

WhatsApp Payments


इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp ने भारत के 500 गांवों को गोद लेने का ऐलान किया गया है। मेटा (पहले फेसबुक) अधिकृत ऐप ने बुधवार को जानकारी दी कि वह कर्नाटक और महाराष्ट्र के 500 गांवों के लोगों को ‘व्हाट्सऐप पर भुगतान’ के जरिए डिजिटल पेमेंट के बारे में सशक्त करेगा। इसके लिए ऐप एक पायलट प्रोजेक्ट शुरू चला रहा है, जिसमें इन 500 गांवों को लोगों को सशक्त किया जाएगा। Also Read - WhatsApp में आने वाला है जबरदस्त फीचर, फोटो और वीडियो को एडिट करने के लिए मिलेंगी 2 नई पेंसिल

क्या है WhatsApp का प्रोजेक्ट?

मेटा के भारत में वार्षिक कार्यक्रम ‘फ्यूल फॉर इंडिया 2021’ के दौरान कंपनी ने यह घोषणा की है। WhatsApp की मानें तो इस प्रोजेक्ट का मकसद डिजिटल पेटमेंट सिस्टम में व्यवहारिक बदलाव लाना है। इस मौके पर व्हाट्सऐप इंडिया के प्रमुख अभिजीत बोस ने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य जमीनी स्तर पर डिजिटल भुगतान में व्यवहारिक बदलाव लाना है। Also Read - WhatsApp में आएगा कमाल का फीचर, चैट विंडो बंद होने के बाद भी सुन पाएंगे वॉइस मैसेज

उन्होंने कहा, ‘हम देश में वित्तीय समावेशन में तेजी लाने में मदद करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमने डिजिटल पेमेंट इकोसिस्टम से अगले 50 करोड़ लोगों को जोड़ने के अपने मिशन के तहत कर्नाटक और महाराष्ट्र के 500 गांवों में यह कार्यक्रम शुरू किया है।’ बोस ने कहा कि WhatsApp के उपयोग में आसानी और विश्वसनीयता पूरे देश में यूपीआई की स्वीकार्यता को बढ़ावा दे सकती है। Also Read - Signal ऐप से भी अब WhatsApp की तरह कर पाएंगे पेमेंट, जानें कैसे काम करता है यह फीचर

कब से शुरू हुआ है प्रोजेक्ट?

इस पायलट प्रोजेक्ट का नाम ‘डिजिटल पेमेंट उत्सव’ रखा गया है, जो 15 अक्टूबर से शुरू हुआ है। इसकी शुरुआत कर्नाटक में मांड्या जिले के क्याथनाहल्ली गांव से हुई है, जहां प्रोजेक्ट से जुड़े लोग ग्रामीणों को डिजिटल पेमेंट के विभिन्न हिस्सों से रू-ब-रू करा रहे हैं। इस प्रोग्राम के तहत ग्रामीणों को UPI के लिए साइन-इन करना, UPI अकाउंट सेटअप करना और ऑनलाइन सुरक्षा के लिए बेस्ट प्रैक्टिस बताई जा रही है, जिससे वह सुरक्षित और आत्मनिर्भर तरीकों से डिजिटल पेमेंट कर सकें।

व्हाट्सऐप का कहना है कि की ग्रामीणों ने WhatsApp Pay को नए पेमेंट मोड के तौर पर स्वीकार करना शुरू कर दिया है। गांव में किराने की दुकान और फिर ब्यूटी पार्लर समेत छोटे और मझले स्तर के कारोबारियों ने डिजिटल पेमेंट स्वीकार करना शुरू कर दिया है। व्हाट्सऐप भारत में डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए अगले 6 महीने तक इस तरह के कदम उठाती रहेगी।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: December 16, 2021 12:03 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers