comscore Zomato के कर्मचारियों ने जलाई कंपनी की टीशर्ट, किया विरोध | BGR India Hindi
News

जोमैटो के कर्मचारियों ने जलाई कंपनी की टीशर्ट, कंपनी में चीनी निवेश का किया विरोध

भारत के साथ सीमा पर बढ़े तानव के कारण देश में चीनी सामनों और चीनी कंपनियों का बड़ी संख्या में विरोध हो रहा है। ऐसे में कोलकाता में फुड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो (Zomato) के कर्मचारियों ने कंपनी का विरोध किया है। पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक चीनी कंपनियों के विरोध के कारण जोमैटो के कर्मचारियों ने कोलकाता में कंपनी की टी-शर्ट फाड़ी और जलाई है।

Zomato

भारत के साथ सीमा पर बढ़े तानव के कारण देश में चीनी सामनों और चीनी कंपनियों का बड़ी संख्या में विरोध हो रहा है। ऐसे में कोलकाता में फुड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो (Zomato) के कर्मचारियों ने कंपनी का विरोध किया है। पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक चीनी कंपनियों के विरोध के कारण जोमैटो के कर्मचारियों ने कोलकाता में कंपनी की टी-शर्ट फाड़ी और जलाई है। यह विरोध सीमा पर 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने कारण किया जा रहा है। बता दें कि 15 जून को चीनी सीमा पर चीन और भारतीय सैनिकों के बीच झड़प हुई थी, जिसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए। Also Read - अब ऑनलाइन मिलेगी शराब, इन शहरों में Swiggy और जोमैटो करेंगे होम डिलीवरी

लोगों के घरों तक भोजन पहुंचाने वाली एप आधारित कंपनी जोमैटो (Zomato) के कुछ कर्मचारियों ने गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने पर, चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शित करते हुए शनिवार को कोलकाता में कंपनी की टी-शर्ट फाड़ी और जलाई। Also Read - ओला, जोमैटो के बीच साझेदारी

Zomato में कुछ लोगों ने छोड़ी नौकरी

बेहाला में प्रदर्शन के दौरान उसमें शामिल कुछ लोगों ने दावा किया कि उन्होंने जोमैटो की नौकरी छोड़ दी है क्योंकि इसमें चीन का निवेश है। साथ ही, उन्होंने लोगों से जोमैटो के जरिये भोजन का ऑर्डर नहीं करने का अनुरोध किया। गौरतलब है कि चीन की कंपनी अलीबाबा से जुडे एंट फाइनेंशियल ने 2018 में जोमैटो में 21 करोड़ डॉलर का निवेश कर उसकी 14.7 प्रतिशत साझेदारी (शेयर) खरीद ली थी। जोमैटो ने हाल ही में एंट फाइनेंशियल से 15 करोड़ डॉलर की राशि फिर से जुटायी है।

प्रदर्शन में शामिल एक व्यक्ति ने कहा, ‘‘चीनी कंपनियां यहां से मुनाफा कमा रही हैं और हमारे सैनिकों पर हमले कर रही हैं। वे हमारी भूमि हथियाना चाहती हैं। ऐसा नहीं होने दे सकते।’’गौरतलब है कि मई में जोमैटो ने अपने 13 प्रतिशत कर्मचारियों, 520 लोगों को कोविड-19 महामारी का हवाला देकर नौकरी से निकाल दिया था।

जोमैटो से इस संबंध में तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। और ना ही इस बारे में कोई जानकारी मिली है कि प्रदर्शन करने वाले लोग कहीं नौकरी से निकाले गए कर्मचारी तो नहीं हैं।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: June 28, 2020 1:41 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers