comscore Elon Musk की Tesla ने 1,30,000 कारों को बुलाया वापस, जानिए क्या आई खराबी
News

Elon Musk की Tesla ने 1,30,000 कारों को बुलाया वापस, जानिए क्या आई खराबी

इससे पहले Tesla ने अप्रैल में अमेरिका में 48,000 Tesla Model 3 कारों को वापस बुलाया था। इन कारों में "ट्रैक मोड" में स्पीडोमीटर शो नहीं होने की दिक्कत आई थी।

elon musk tesla

Representative Image


Elon Musk की इलेक्ट्रिक कार मेकर कंपनी Tesla ने 1,30,000 कारों को वापस बुला लिया है। कंपनी ने हाल में एक ओवर-द-एयर अपडेट (OTA) जारी किया है। इसके मुताबिक 2021 और 2022 मॉडल ईयर की Tesla S और Tesla X और 2022 मॉडल ईयर की Tesla 3 और Tesla Y कारों को रिकॉल किया गया है। Also Read - अब भारत नहीं आएगी Tesla की कार! Elon Musk ने कहा- "नहीं लगाएंगे मैनुफैक्चरिंग प्लांट"

Tesla की कारों में आई यह दिक्कत 

नेशनल हाईवे ट्रैफिक सेफ्टी एडमिनिस्ट्रेशन (NHTSA) ने मंगलवार को कहा कि टेस्ला इंक अमेरिका में लगभग 130,000 वाहनों को वापस बुला रहा है। दरअसल टेस्ला की कारों में ओवरहीटिंग सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (सीपीयू) के कारण टचस्क्रीन डिस्प्ले में गड़बड़ी की गुंजाइश थी, जिसके चलते कंपनी ने यह रिकॉल जारी किया है। Also Read - Jack Dorsey के अंतिम इस्तीफे के साथ Twitter में एक 'युग' का अंत

NHTSA के मुताबिक, इलेक्ट्रिक वीइकल मेकर इस समस्या को ठीक करने के लिए एक ओवर-द-एयर सॉफ्टवेयर अपडेट लाएगा। यह भी कहा गया कि इंफोटेनमेंट सिस्टम में सीपीयू के ओवरहीट होने से डिस्प्ले स्क्रीन में रियरव्यू कैमरा, अलर्ट लाइट और दूसरे जरूरी नोटिफिकेशन शो होने में दिक्कत आ सकती है। अमेरिकी एजेंसी के अनुसार, ओवरहीटिंग की समस्या ड्राइवरों को अपने बैकअप कैमरे का उपयोग करने, टचस्क्रीन का उपयोग करने के साथ-साथ अपने विंडशील्ड वाइपर की स्पीड को एडजस्ट करने से भी रोक सकती है। Also Read - Tesla Electric Car: टेस्ला की इलेक्ट्रिक कार ने पकड़ी आग, खिड़की तोड़कर बाहर निकला ड्राइवर

टेस्ला ने NHTSA को इस साल इस मुद्दे से जुड़े 59 वारंटी क्लेम और 59 फील्ड रिपोर्ट्स की जानकरी दी है। हालांकि इस मुद्दे से जुड़ी दुर्घटनाओं या किसी तरह के नुकसान की कोई रिपोर्ट नहीं है।

भारत में Tesla को लेकर क्या है अपडेट

बता दें हाल में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भारत में कारों के प्रोडक्शन के लिए टेस्ला को आमंत्रित करने की सरकार की इच्छा दोहराई है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा कि अगर टेस्ला भारत में कार बनाने का फैसला करती है, तो उसे भी इसका फायदा मिलेगा। केंद्रीय मंत्री ने यह भी आश्वासन दिया कि इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमतें जल्द ही ICE से चलने वाले पेट्रोल वाहनों की कीमत से कम हो जाएंगी।

नितिन गडकरी ने कई मौकों पर साफ तौर पर कहा है कि भारत टेस्ला का मैन्युफैक्चरिंग हब हो सकता है। दूसरी ओर, यह भी साफ है कि भारत में बाहर मैनुफैक्चर हुई टेस्ला कारों के लिए टैक्स में राहत नहीं देगा।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: May 11, 2022 5:10 PM IST



new arrivals in india