comscore 3 महीने के अंदर टूटा Ola S1 Pro इलेक्ट्रिक स्कूटर, यूजर्स ने उठाए क्वालिटी पर सवाल
News

3 महीने के अंदर टूटा नया Ola S1 Pro इलेक्ट्रिक स्कूटर, यूजर्स ने उठाए क्वालिटी पर सवाल

भारतीय बाजार में पहली बार लॉन्च होने के बाद से Ola Electric को ई-स्कूटर की बिल्ड क्वालिटी को लेकर दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। कुछ समय पहले ही एक यूजर ने इसका फ्रंट सस्पेंशन टूटने की शिकायत की थी।

Ola S1 Pro

Credit: YouTube


एक तरफ जहां Ola S1 Pro स्कूटर काफी डिमांड में है वहीं इसकी क्वालिटी को लेकर कई यूजर्स ने सवाल उठाए हैं। एक नए मामले में ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर के मालिक ने इसके स्टैंड की मेकिंग क्वालिटी को खराब बताया है। मालिक का दावा है कि प्लास्टिक से बना यह स्टैंड वजह उठाने के लिए पर्याप्त नहीं है और स्कूटर खरीदने के 3 महीनों के अंदर ही यह टूट गया। Also Read - Ola S1 Pro में आई अजीबोगरीब समस्या, आधे घंटे तक बजता रहा इलेक्ट्रिक स्कूटर का हॉर्न, देखें वीडियो

इन दावों के साथ कस्टमर ने एक वीडियो भी शेयर किया है जिसमें Ola Electric Scooter का टूटा हुआ स्टैंड देखा जा सकता है। वीडियो में Ola S1 Pro को कार्डबोर्ड के एक टुकड़े पर देखा जा सकता है। इसमें मालिक ई-स्कूटर के टूटे हुए स्टैंड को अपने हाथों में रखकर दिखा रहा है। Also Read - Ola Electric Scooter का हुआ बुरा हाल, जरा सी स्पीड में टूटा आगे का हिस्सा

इस ओला एस1 प्रो के मालिक का दावा है शिकायत के बाद रोडसाइड असिस्टेंस को उसकी लोकेशन तक आने में 3 घंटे लगे। उन्होंने यह भी बताया कि इसे ठीक करने में 3 दिन का समय लगेगा। Also Read - मिनटों में बुक करें Ola S1 Pro इलेक्ट्रिक स्कूटर के लिए टेस्ट राइड, कंपनी मुफ्त में दे रही मौका

Ola Electric Scooters में आ रही कई तरह की दिक्कतें

इसके अलावा, ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें मालिकों ने सस्पेंशन समेत स्कूटर के फ्रंट हिस्से के टूटने की शिकायत की थी। इसके अलावा, कुछ ऐसे मामले सामने आए हैं जहां स्कूटर को एक सॉफ्टवेयर ग्लिच का सामना करना पड़ा। इससे स्कूटर अचानक रिवर्स मोड में चला गया। वहीं कुछ यूजर्स ने इलेक्ट्रिक स्कूटर की बैटरी बिना किसी अलर्ट के अचानक खत्म होने की भी शिकायत की है। एक और मामले में परफॉर्मेंस से नाखुश तमिलनाडु के यूजर ने ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर में सड़क के किनारे आग लगा दी थी।

सरकारी जांच में फंसी Ola Electric

Ola Electric इन दिनों सरकार की तरफ से भी समस्याओं से घिरी हुई है। आग की घटनाओं के बाद सरकार ने एक एजेंसी को आग की घटनाओं की जांच के आदेश दिए हैं। शुरुआती जांच में ओला इलेक्ट्रिक के बैटरी सेल और बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम खराब पाए गए है। एक और रिपोर्ट के मुताबिक, मेकर कीमत कम करने के लिए लो-क्वालटी मटेरियल इस्तेमाल कर रहा था। सरकार ने ईवी मेकर्स को इस तरह के सस्ते मटेरियल के इस्तेमाल को लेकर गवाही देने के लिए तलब किया है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: June 13, 2022 1:09 PM IST



new arrivals in india