comscore BGMI ने फिर कसी चीटर्स पर लगाम, एक हफ्ते में बैन किए लगभग 1 लाख अकाउंट्स
News

BGMI ने फिर कसी चीटर्स पर लगाम, एक हफ्ते में बैन किए लगभग 1 लाख अकाउंट्स

क्राफ्टन हर हफ्ते अपनी एंटी-चीट रिपोर्ट पब्लिश करता है। BGMI की लेटेस्ट बैन रिपोर्ट के मुताबिक, क्राफ्टन ने 13 दिसंबर से लेकर 19 दिसंबर के बीच कुल 99,583 BGMI अकाउंट्स बैन किए हैं।

BGMI

Battlegrounds Mobile India (BGMI) पबजी मोबाइल का री-ब्रांडेड वर्जन है, जिसे क्राफ्टन ने कुछ बदलाव के साथ भारत के लिए डेवलप किया है। पबजी की ही तरह इस गेम में भी हैकर्स नजर आते हैं जो इल्लीगल प्रोग्राम्स के जरिए गेम में चीटिंग करते हैं। क्राफ्टन लम्बे टाइम से इन चीटर्स को बैन करता आ रहा है। चीटर्स के खिलाफ मुहिम में कंपनी ने इस हफ्ते लगभग 1 लाख अकाउंट्स बैन किए हैं। Also Read - Krafton ने बेईमानी करने वाले BGMI के करीब 50,000 अकाउंट्स को किया बैन, कंपनी ने कहा चीटर्स के लिए नहीं है कोई जगह

BGMI ने बैन किए लगभग 1 लाख अकाउंट्स

क्राफ्टन हर हफ्ते अपनी एंटी-चीट रिपोर्ट पब्लिश करता है, जो चीटिंग की वजह से बैन किए जाने वाले अकाउंट्स की डिटेल देती है। BGMI की लेटेस्ट बैन रिपोर्ट के मुताबिक, क्राफ्टन ने 13 दिसंबर से लेकर 19 दिसंबर के बीच कुल 99,583 BGMI अकाउंट्स बैन किए हैं। Also Read - Battlegrounds Mobile India की M416 Glacier जैसी गन स्किन, आसानी से नहीं आती हैं प्लेयर्स के हाथ

गेम डेवलपर ने BGMI की वेबसाइट पर बैन होने वाले अकाउंट्स के निकनेम भी पब्लिश किए हैं। आप इन्हें battlegroundsmobileindia.com पर News सेक्शन में मौजूद Anti-Cheat Notice 12/13 – 12/19 पोस्ट में देख सकते हैं। Also Read - BGMI के नए 1.8 अपडेट में हैं दिक्कत, डाउनलोड करने से पहले जान लीजिए परेशानी

कंपनी अपने सिक्योरिटी और कम्युनिटी मॉनिटरिंग सिस्टम की मदद से इन चीटिंग करने वाले अकाउंट्स का पता लगाती है, जिन्हें इन्वेस्टिगेशन के बाद बैन कर दिया जाता है। पिछले हफ्ते के मुकाबले इस बार यह आंकड़ा घटा है। पिछले हफ्ते, यानी कि 6 दिसंबर से 12 दिसंबर के बीच गेम ने 1,42,766 अकाउंट्स बैन किए थे।

चीटर्स की कैसे होती है पहचान

क्राफ्टन के मुताबिक, Battlegrounds Mobile India (BGMI) में 24-घंटे सिक्योरिटी सिस्टम एक्टिव रहता है। यह चीटर्स को ढूंढता है और इन्हें बैन करता है। कंपनी का कहना है कि अगर कोई अकाउंट किसी तरह का इल्लीगल प्रोग्राम इस्तेमाल करते हुए पाया जाता है तो उसका अकाउंट रियल-टाइम में बैन कर दिया जाता है। अगर किसी प्लेयर को मैच में कोई हैकर दिखाई पड़ता है तो वह भी इन्हें रिपोर्ट कर सकते हैं। क्राफ्टन इन रिपोर्ट को परखता है और चीटिंग पाए जाने पर उस अकाउंट को बैन कर देता है।

इससे पहले क्राफ्टन बता चुका है कि यह गेम के अन्दर चीटर्स को बैन करने के अलावा इंटरनेट पर ऐसा कॉन्टेंट भी ढूंढता रहता है जो चीटिंग प्रमोट कर रहे हों या हैकिंग के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले इल्लीगल प्रोग्राम्स को शेयर कर रहे हों। इसके लिए यह अलग-अलग वेबसाइट्स पर खोजबीन करता है, जिनमें यूट्यूब भी शामिल है। यह बताता है कि अगर कोई चैनल या वेबसाइट ऐसा करते हुए पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ भी एक्शन लिया जाता है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: December 22, 2021 1:20 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers