comscore PUBG Lite ने 22,541 प्लेयर्स को किया बैन, कहीं आप ना बन जाए अगला शिकार | BGR India Hindi
News

PUBG Lite ने 22,541 प्लेयर्स को किया बैन, कहीं आप ना बन जाए अगला शिकार

PUBG Lite की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, इस बार डेवलपर्स ने 22,541 प्लेयर्स को परमानेंट बैन किया है। इसके अलावा 12,835 प्लेयर्स को दो अलग-अलग ऑफेंस (दोष) में बैन किया है। इनमें से 12,072 प्लेयर्स को ऑफेंस 1 के तहत बैन किया है, जिसमें 30 दिनों का अस्थाई बैन होता है। वहीं, 763 प्लेयर्स को ऑफेंस 2 के तहत हमेशा के लिए बैन किया गया है।

PUBG Lite 4

PUBG Mobile की तरह ही PUBG Lite टीम भी लगातार चीटिंग करने वाले प्लेयर्स को बैन करती है। बैन किए गए खिलाड़ियों की लिस्ट भी रिलीज की जाती है। इस बैन लिस्ट को हर महीने रिलीज किया जाता है। अब PUBG Lite टीम ने चीटिंग या हैकिंग करने वाले खिलाड़ियों की एक नई लिस्ट जारी की गई है। यह लिस्ट 5 दिसंबर 2019 से लेकर 1 जनवरी 2020 के बीच बैन किए गए प्लेयर्स की है। बता दें कि PUBG Mobile की तरह ही PUBG PC Lite गेम में भी चीटिंग करने वाले प्लेयर्स को 10 साल तक के लिए बैन किया जाता है। इन नई लिस्ट में शामिल प्लेयर्स के अकाउंट को भी 10 साल के लिए बैन कर दिया है। इसका मतलब है कि ये प्लेयर्स अगले 10 साल तक इस आईडी के जरिए गेम नहीं खेल पाएंगे।


PUBG Lite की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, इस बार डेवलपर्स ने 22,541 प्लेयर्स को परमानेंट बैन किया है। इसके अलावा 12,835 प्लेयर्स को दो अलग-अलग ऑफेंस (दोष) में बैन किया है। इनमें से 12,072 प्लेयर्स को ऑफेंस 1 के तहत बैन किया है, जिसमें 30 दिनों का अस्थाई बैन होता है। वहीं, 763 प्लेयर्स को ऑफेंस 2 के तहत हमेशा के लिए बैन किया गया है। इस तरह कुल 22,541 प्लेयर्स को 5 दिसंबर से लेकर 1 जनवरी के बीच बैन किया गया है।

डेवलपर्स इन बैन को कई तरह की मॉडिफिकेशन के हिसाब से तय करते हैं। उदाहरण के लिए मॉडिफिकेशन ऑफ एरिया डैमेज, मॉडिफिकेशन ऑफ जंप डिस्टेंस , मॉडिफिकेशन ऑफ जंप हाईट, मॉडिफिकेशन ऑफ रनटाइम गेम डाटा आदि। गेम कंपनी ने इसको लेकर ट्टिट भी किया गया है। भारत समेत दुनियाभर में प्लेयर्स अननोन बैटलग्राउंड गेम के सभी वर्जन काफी पॉप्युलर है।

पॉप्युलेरिटी के साथ-साथ इस गेम के सभी वर्जन ने पिछले कुछ समय में चीटर्स और हैकर्स की सख्यां में भी बढ़ोतरी हुई है। हालांकि कंपनी लगातार गेम में चीटर्स और हैकर्स को बैन करके उनकी नई लिस्ट को जारी करती रहती है। इससे पता चलता है कि कंपनी गेम में चीटर्स को लेकर कितना एक्टिव है और वह कितनी तेजी से चीटर्स को बैन कर रही है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: January 10, 2020 10:27 AM IST