comscore
News

एयरटेल यूजर्स के लिए बड़ी खबर

इस वक्त भारत में केवल रिलायंस जियो ही एकमात्र LTE-ओनली सर्विस है।

airtel-stock-image-bgr-india-2

सब्सक्राइबर बेस के हिसाब से देश की बड़ी टेलीकॉम कंपनी एयरटेल के नेटवर्क की रीच बड़ी मानी जाती है। 2G और 3G नेटवर्क से शुरुआत कर आज एयरटेल LTE नेटवर्क कनेक्टिविटी भी बड़े पैमाने पर प्रोवाइड कर रहा है, लेकिन अब एेसा लग रहा है कि टेलीकॉम ब्रांड पुराने 2G और 3G नेटवर्क को बंद कर LTE-ओनली ब्रांड बनने की तैेयारी कर रहा है।

रिलायंस जियो ने पहले से ही इस कॉन्सेप्ट को अपना लिया था। इस वक्त भारत में केवल रिलायंस जियो ही एकमात्र LTE-ओनली सर्विस है। अब एयरटेल को भी इस कॉन्सेप्ट को अपनाने में फायदा नजर आ रहा है। यह फैसला कंपनी के लिए अच्छा फैसला भी साबित हो सकता है, खासतौर पर इस बात को ध्यान रखते हुए कि आजकल एंट्री-लेवल स्मार्टफोन भी VoLTE सपोर्ट के साथ आते हैं। रिलायंस जियो ने इसके लिए अपनी 4G सपोर्टिंग फोन की एक सीरीज भी लॉन्च की है।

एयरटेल के इस सर्विस को अपनाने की खबर एयटेल के CEO Gopal Vittal के साथ हुए ET के एक इंटरव्यू के द्वारा सामने आई है। इंटरव्यू में Vittal ने कहा है कि 3G सर्विस कंपनी के लिए उम्मीद के हिसाब से कम रेवेन्यू जनरेट कर रही है। इसलिए, 4G सर्विस की डिमांड में होने वाली ग्रोथ को देखते हुए कंपनी 2G सर्विस में इस्तेमाल होने वाले 900MHz बैंड की बजाए LTE सर्विस में इस्तेमाल होने वाले 1800MHz का इस्तेमाल कर सकती हैं।

एेसी खबर है कि 900MHz बैंड को 1800MHz में बदलने का काम कर्नाटक में पहले से भी खत्म कर लिया गया है और जल्द ही इसे दूसरे सर्किल में भी लागू कर दिया जाएगा। इस बदलाव से जो लोग कंपनी के नेटवर्क कि समस्या से जूझ रहे हैं, उन्हें थोड़ी राहत मिलेगी।

  • Published Date: November 8, 2018 11:23 AM IST