comscore
News

BSNL ने सरकार पर लगाया रिलायंस जियो का पक्ष लेने का आरोप, कल से केरेंगे अनिश्चितकालीन हड़ताल

BSNL यूनियन का कहना है कि सरकार द्वारा BSNL को अभी तक 4G स्पेक्ट्रम इसलिए नही दिया गया है ताकि BSNL जियो के साथ कंपीट ना कर सके।

bsnl

पिछले दो सालों में जियो के द्वारा दिए जाने वाले बेहद सस्ते डाटा प्लान और लगभग फ्री वॉइस कॉलिंग के कारण बाकी सभी टेलीकॉम कंपनियां अपने रिवेन्यू में गिरावट से जूझ रही है। पिछले साल एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया ने जियो को गिरते रेवेन्यू का जिम्मेदार बताया था। अब एयटेल, आइडिया और वोडाफोन के बाद अब BSNL ने भी जियो को रेवेन्यू में हो रहे घाटे का दोशी बताया है।

इस बात के लिए BSNL के कर्मचारी यूनियन ने हाल ही में भारत सरकार दूसरी टेलीकॉम कंपनियों को नजरअंदाज कर मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली कंपनी रिलायंस जियो का पक्ष लेने का इल्जाम लगाया था। इसके अलावा यूनियन ने इस मुद्दे को लेकर सोमवार यानी 3 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल जाने की धमकी भी दी थी।

यूनियन ने सरकार पर आरोप लगाया है कि सरकार द्वारा BSNL को अभी तक 4G स्पेक्ट्रम इसलिए नही दिया गया है ताकि BSNL जियो के साथ कंपीट ना कर सके। अॉल यूनियन्स एंड एसोसिएशन अॉफ BSNL (AUAB) ने कहा है कि रिलायंस जियो अपने मजबूत फाइनेंशियल स्टेटस के कारण ‘Below-Cost’ सर्विस दे रहा है। उन्होंने यह भी कहा है कि रिलायंस जियो के द्वारा दिए जाने वाले इस ‘below -cost’ सर्विस ने Aircel और Telenor को अपनी सर्विस को बंद करने पर मजबूर कर दिया था।

अगर कल यानी 3 दिसंबर से BSNL कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाते हैं तो इससे लाखों BSNL ग्राहकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

  • Published Date: December 2, 2018 12:02 PM IST