comscore
News

छत्तीसगढ़ में दो दोस्तों के बीच PUBG Mobile को लेकर हुआ बवाल, छात्र गिरफ्तार

हाल ही में Oxford University ने भी एक रिपोर्ट रिलीज की थी, जहां रिसर्चर्स ने दावा किया था कि गेम्स खेलने से बच्चों की मानसिकता पर बुरा असर नहीं पड़ता है।

pubg-mobile-vikendi-snow-map-first-impressions

Image Credit: Rehan Hooda


हाल ही में PUBG Mobile कई बुरी खबरों के लिए सुर्खियों में रहा है। कुछ दिनों पहले खबर आई थी कि PUBG Mobile को सूरत में बैन कर दिया गया था और सरकार और चाइल्ड राइट्स समीतियां इसे स्कूल और कॉलेज से भी बैन करने की कोशिश में लगी हुई है। आपको बता दें कि गुजरात में कई जगह इस गेम को खेलने से गिरफ्तारियां भी हुई है। लोगों का मानना है कि यह गेम बच्चों की मानसिकता पर बुरा असर डाल रहा है और इससे बच्चे हिंसक हो रहे हैं।

अब एक नई खबर आई है, जहां छत्तीसगढ़ के सूरजपुर डिस्ट्रिक्ट में एक हिंसा हुई है, जहां PUBG गेम को लेकर एक विवाद शुरू हुआ और उसने हिंसक रूप ले लिया। सूरजपुर नगर की पंचायत का कहना है कि दो विद्यार्थियों के बीच गेम खेलते वक्त किसी बात को लेकर विवाद हुआ, जिसके बाद गेम खेल रहे चार और विद्यार्थियों ने भी इन दो में से एक विद्यार्थी का पक्ष लिया और दूसरे विद्यार्थी की पिटाई कर दी।

पीड़ित के द्वारा मामले को पुलिस तक ले जाया गया और उन्होंने दोषियों के खिलाफ Bhatgaon पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस स्टेशन के एडिशनल SP हरीश राढ़ौड ने इस मामले पर अधिक जानकारी देते हुए बताया कि इस पूरे मामले में बच्चें शामिल हैं और मैडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही इस मामले पर कार्यवाही की जाएगी। हालांकि मामला गंभीर नहीं है और ना ही यह बैन से संबंधित है, लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने PUBG गेम से संबंधित किसी मामले में किसी व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

जहां एक ओर बच्चों के माता पिता, सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों का मानना है कि PUBG गेम बच्चों की मानसिकता पर असर डाल रहा है, वहीं कुछ स्टडी के मुताबिक, गेमिंग हमारी मानसिकता पर बुरा प्रभाव नहीं डालती है। हाल ही में Oxford University ने भी एक रिपोर्ट रिलीज की थी, जहां रिसर्चर्स ने दावा किया था कि गेम्स खेलने से बच्चों की मानसिकता पर बुरा असर नहीं पड़ता है।

  • Published Date: April 3, 2019 11:41 AM IST