comscore
News

भारतीयों ने इस साल खरीदें 50,000 करोड़ चाइनीज स्मार्टफोन, ये 4 ब्रांड्स हैं टॉप पर

इससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारतीय स्मार्टफोन बाजार में किस कदर चाइनीज ब्रांड का दबदबा कायम है। 

xiaomi-mi-8-blue-main

भारतीय कंज्यूमर्स ने फाइनेंशियल ईयर 2018 में  50,000 करोड़ चाइनीज स्मार्टफोन खरीदें हैं। ये स्मार्टफोन चीन के टॉप चार ब्रांड्स के हैं। इससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारतीय स्मार्टफोन बाजार में किस कदर चाइनीज ब्रांड का दबदबा कायम है।  भारतीय यूजर्स ने जिन चार स्मार्टफोन ब्रांड्स के स्मार्टफोन को खरीदा है वो- शाओमी, ओप्पो, वीवो और  Honor हैं। इन स्मार्टफोन ब्रांड्स के अलावा भारतीय मार्केट में लेनोवो-मोटोरोला, वनप्लस, इनफिनिक्स का भी दबदबा है।

भारत के टोटल स्मार्टफोन मार्केट में ये ब्रांड आधे से ज्यादा सेल्स करते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि इस साल भी भारतीय मार्केट में चाइनीज स्मार्टफोन ब्रांड्स की सेल में इजाफा आया है। इन चार चाइनीज ब्रांड की कंबाइन सेल इस साल  51,722.1 करोड़ रही है, जो कि पिछले साल के मुकाबले दोगुनी है। पिछले साल इन ब्रांड्स की कंबाइन सेल 26,262.4 करोड़ थी।

विशेषज्ञों का कहना है कि भारतीय मार्केट में चाइनीज स्मार्टफोन के दबदबे की मुख्य वजह है कि ये ब्रांड्स हाई-फीचर्स मॉडल वाले फोन्स को कम कीमत में लॉन्च करते हैं। ये ब्रांड्स दक्षिण कोरिया, जापान और भारतीय ब्रांड्स के मुकाबले एडवांस फीचर्स वाले स्मार्टफोन भारतीय मार्केट में उतारते हैं। शाओमी, ओप्पो, लेनोवो-मोटोरोला, हुवावे और वीवो जैसे चाइनीज ब्रांड, लोकल मैन्यूफेक्चरिंग में इवेस्ट करते हैं और जॉब्स क्रिएट करते हैं। यह सब मेक इन इंडिया के बदौलत हो पाया है। ओप्पो उत्तर प्रदेश में अपने दो नए  फैन्यूफेक्चरिंग फेसिलिटीज स्थापित कर रहा है। इसके अलावा शाओमी और वीवो के भी भारत में फैन्यूफेक्चरिंग फेसिलिटीज हैं।

  • Published Date: October 29, 2018 10:27 AM IST