comscore
News

गंगा की सफाई के लिए स्पेस टेक्नोलॉजी का होगा इस्तेमाल

स्पेस टेक्नोलॉजी के जरिए नदियों का बेहतर डाटा मिल सकेगा और इसके जरिए प्रोजेक्ट की योजना बनाने और उसकी कंट्रोलिंग में भी मदद मिलेगी।

Image Credit: IANS


नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा (NMCG) के लिए स्पेस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाएगा। एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी है। स्पेस टेक्नोलॉजी के जरिए नदियों का बेहतर डाटा मिल सकेगा और इसके जरिए प्रोजेक्ट की योजना बनाने और उसकी कंट्रोलिंग में भी मदद मिलेगी।

पीटीआई की खबर के अनुसार नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा के डायरेक्टर जनरल राजीव रंजन मिश्रा ने कहा कि डिपार्टमेंट ऑफ स्पेस की मदद लेने के अलावा सर्वे जनरल ऑफ इंडिया के डाटा का भी इस्तेमाल किया जाएगा।

इससे टेक्नोलॉजी के जरिए गंगा को साफ करने में मदद मिलेगी। एक इसरों के अधिकारी ने अपना नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा कि geo-spatial और रिमोट सेंसिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल नदियों की वॉटर क्वॉलिटी जांचने के लिए किया जाएगा।

हालांकि उन्होंने इससे अधिक जानकारी नहीं दी। मिश्रा ने कहा कि इस तरह के डाटा से नदियों की परियोजनाओं को बेहतर तरीके से मॉनिटर करने में मदद मिलेगी और इससे अच्छी योजनाएं भी बनाई जा सकेंगी। मिश्रा ने यह जानकारी G-Governance of Namami Gange programme through Geospatial Technology नाम के इवेंट में दी।

  • Published Date: November 15, 2018 1:20 PM IST
  • Updated Date: November 15, 2018 1:20 PM IST