comscore
News

रिलायंस जियो बन सकती है सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी

कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज रिसर्च के मुताबिक अगर जियो का परफॉर्मेंस आगे भी ऐसा ही रहा तो 2018 के अंत तक वह देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बनके उभर सकती है।

reliance-jio-stock

रिलायंस जियो अपने राइवलरी कंपनियों के मुकाबले अधिक सब्सक्राइबर्स को जोड़ रहा है। कंपनी ने जुलाई में बाकी कंपनियों के मुकाबले 10 गुना अधिक यूजर्स को अपने साथ जोड़ा था। एक रिपोर्ट के मुताबिक अगर रिलायंस जियो इसी रफ्तार से नए यूजर्स को अपने साथ जोड़ता रहा तो वह जल्द ही देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया प्राइवेट लिमिटेड को पीछे छोड़ सकता है।
कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज रिसर्च के मुताबिक अगर जियो का परफॉर्मेंस आगे भी ऐसा ही रहा तो 2018 के अंत तक वह देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बनके उभर सकती है।

पिछले क्वॉर्टर में रिलायंस जियो का नेट रेवेन्यू भारती एयरटेल के वायरलैस रेवेन्यू से अधिक रहा था। एनालिस्ट के मुताबिक जियो अपने सब्सक्राइबर्स बेस को बढ़ाने पर काम कर रहा है, लेकिन आधार बेस्ड e-KYC के बैन से नियर टर्म में कंपनी को नुकसान होगा।

कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज रिसर्च के मुताबिक हमें उम्मीद है कि भारती एयरटेल नेट इंडिया वायरलैस रेवेन्यू 2QFY19 में 87-87 अरब रुपये रहेगा। वहीं रिलायंस जियो का रेवेन्यू 92.4 अरब रुपये रह सकता है। ऐसे में जियो का परफॉर्मेंस आगे भी ऐसा ही रहता है तो वह नेट रेवेन्यू के मामले में वोडाफोन आइडिया को पीछे ( 3QFY19E) छोड़ देगी।

  • Published Date: October 23, 2018 8:08 AM IST