comscore जियोनी मैराथन एम4: शानदार बैटरी, दमदार फीचर लेकिन औसत कैमरा | BGR India
News

जियोनी मैराथन एम4: शानदार बैटरी, दमदार फीचर लेकिन औसत कैमरा

चीनी मोबाइल निर्माता कंपनी जियोनी ने हाल में मैराथन एम4 माॅडल को भारतीय बाजा

gionee-marathon-m4-hands-on (1)

चीनी मोबाइल निर्माता कंपनी जियोनी ने हाल में मैराथन एम4 माॅडल को भारतीय बाजार में पेश किया है। कंपनी का मैराथन सीरीज खास तौर से बड़ी बैटरी के लिए जाना जाता है। इस फोन में 5,000 एमएएच की बैटरी दी गई है। मैराथन एम4 हमारे पास भी परिक्षण के लिए उपलब्ध हुआ। इस परिक्षण के दौरान हमने यही जांचने की कोशिश की, कि क्या सिर्फ बैटरी ही दमदार है या फिर कंपनी ने अन्य फीचर में भी दम दिखाया है।

5-इंच स्क्रीन के साथ पेश किया गया जियोनी मैराथन एम4 देखने में अच्छा है। इससे पहले हमने जियोनी मैराथन एम3 का सफेद संस्करण उपयोग किया था जबकि मैराथन एम4 गाढ़े ग्रे (डार्क ग्रे) रंग में उपलब्ध हुआ। परंतु फोन को देखकर कहा जा सकता है कि यह पहले से कहीं ज्यादा बेहतर हो गया है। इसका बैक पैनल प्लास्टिक का है जबकि साइड फ्रेम मैटल का बना है। मैटल फ्रेम पर ही हार्डवेयर बटन (वॉल्यूम रॉकर और पावर बटन) दिए गए हैं। पिछले पैनल में 8-मेगापिक्सल का कैमरा एलईडी फ्लैश के साथ है। लाउडस्पीकर भी पिछले पैनल में ही उपलब्ध है।

gionee-marathon-m4-hands-on (4)

जियोनी मैराथन एम4 का लुक बेहतर है लेकिन बड़ी बैटरी की वजह से यह साधारण फोन से थोड़ा भारी लगता है। हालांकि यदि इसकी तुलना पुराने संस्करण एम3 से करें तो यह 4 ग्राम हल्का ही है। इसका बैक पैनल खुलता है जहां आप सिम और माइक्रोएसडी कार्ड का उपयोग कर सकते हैं लेकिन बैटरी खुद से नहीं बदल सकते।

जियोनी मैराथन एम4 का स्क्रीन रेजल्यूशन एचडी (1280×720 पिक्सल) है। वहीं फोन की स्क्रीन सुपर एमोलेड तकनीक से लैस है। मैराथन एम3 और मैराथन एम4 के डिसप्ले में मुख्य अंतर इसी का है। हालांकि कुछ लोग फुल एचडी स्क्रीन न होना कमी कह सकते हैं लेकिन हमें कुछ खास फर्क नहीं पड़ा। सुपर एमोलेड इस कमी को पूरा कर रहा था। मैराथन एम4 की स्क्रीन कोटेड है जिससे कि स्क्रीन पर उंगलियों के निशान बहुत कम दिखाई देते हैं और यह साफ सुथरा लगता है।

gionee-marathon-m4-hands-on (3)

बेहतर प्रोसेसिंग के लिए मैराथन एम4 को 1.3गीगाहट्र्ज का 64बिट्स आॅक्टाकोर प्रोसेसर दिया गया है। फोन की इंटरनल मैमोरी 16जीबी है और 2जीबी की रैम मैमोरी दी गई है। उपभोक्ता के लिए सिर्फ 9.98जीबी मैमोरी ही उपलब्ध है। इसमें मैमोरी कार्ड सपोर्ट है और 32जीबी तक के कार्ड का उपयोग कर सकते हैं। मैराथन एम4 का उपयोग हमने लगभग 20 दिनों तक किया और कहा जा सकता है कि परफॉर्मेंस के मामले में यह फोन बेहतर है। इस दौरान एक साथ कई एप्लिकेशन खोले गए और ब्राउजर में भी ढेर सारे टैब खुले थे। परंतु हमें किसी तरह की कोई समस्या नहीं मिली। कमी सिर्फ यह कह सकते हैं कि कभी—कभी ब्राउजिंग के दौरान यह थोड़ा ज्यादा गर्म हो रहा था और जब यह गर्म होता है तो आगे स्क्रीन तक में आप उसे महसूस कर सकते हैं।

जियोनी मैराथन एम4 को एंडराॅयड आॅपरेटिंग सिस्टम 5.0 लाॅलीपाॅप पर पेश किया गया है। इसके साथ ही इसे अमिगो 3.0 यूजर इंटरफेस से लैस किया गया है। इससे पहले भी हम जियोनी फोन में इस इंटरफेस को देख चुके हैं। इसमें इसमें बहुत ज्यादा अंतर देखने को नहीं मिला। फोन के मुख्य पैनल पर ही आपको एप्लिकेशन नजर आएंगे। आप पैनल स्वाइप कर उन्हें देख सकते हैं। आज कल स्मार्टफोन में सभी टच बटन स्क्रीन पर देखने को मिलते हैं वहीं मैराथन एम4 में तीनों एंडराॅयड बटन स्क्रीन के नीचे दिए गए हैं। स्क्रीन पर ही आपको कुछ बटन मिलेंगे जिन्हें एडिट कर सकते हैं।

gionee-marathon-m4-hands-on (6)

मैराथन एम4 में वीचैट, यूसी ब्राउजर और सावन जैसे कुछ एप्लिकेशन पहले से उपलब्ध हैं। अच्छी बात यह कही जा सकती है कि सिस्टम फाइल को छोड़कर अन्य सभी एप्लिकेशन को आप अनइंस्टॉल कर सकते हैं। जियोनी मैराथन में कॉल और मैसेज ब्लॉक करने का भी विकल्प दिया है। यह फीचर बेहद ही उपयोगी है। हालांकि किसी नंबर को ब्लॉक करने के बाद मैसेज आ रहे थे लेकिन कॉल आने पर एक बार रिंग हो कर खुद ही कट रहा था।

फोटोग्राफी के लिए इसमें 8-मेगापिक्सल का रीयर कैमरा दिया गया है जबकि सेकेंडरी कैमरा 5-मेगापिक्सल का है। कैमरे के मामले में इसे थोड़ा पीछे कहा जा सकता है। इस बजट में हम 13-मेगापिक्सल कैमरे की आशा तो कर ही सकते हैं। हां, पिक्चर क्वालिटी की बात है तो अच्छी मिली। इंडोर में थोड़ी समस्या थी। यह पिक्चर काफी तेजी से ले रहा था लेकिन फोटोग्राफ थोड़े पिक्सलेट हो रहे ​थे। फोन का सेल्फी कैमरा अच्छा कहा जा सकता है बहुत अच्छा नहीं।

gionee-marathon-m4-hands-on (8)

जैसा कि हम पहले भी बात कर चुके हैं कि जियोनी मैराथन एम4 में बड़ी बैटरी दी गई है। कंपनी ने 50 घंटे टाॅकटाइम के साथ 440 घंटे स्टैंडबाई टाइम का दावा किया है। फोन को एक बार पूरी तरह से चार्ज करने के बाद हमने इसे ढ़ाई दिन बगैर चार्ज के उपयोग किया जबकि इस दौरान हर रोज लगभग 2 घंटे से ज्यादा की कॉल और 4—5 घंटे की ब्राउजिंग की गई। फोन को यदि किसी दूसरे चार्जर से चार्ज करते हैं तो यह काफी समय लेता है लेकिन सेल्स पैक के साथ दिए गए चार्जर से यह बेहद तेजी से चार्ज भी हो जाता है।

gionee-marathon-m4-hands-on (9)

मैराथन एम4 में दोहरा सिम सपोर्ट है और दोनों स्लाॅट में माइक्रोसिम का उपयोग होता है। वहीं कनेक्टिविटी के लिए वाईफाई, 3जी और 4जी का भी लाभ लिया जा सकता है। फोन में एक बार में किसी एक सिम पर ही डाटा का लाभ ले सकते हैं। हालांकि अच्छी बात यह कही जा सकती है कि किसी भी सिम पर 4जी का लाभ ले सकते हैं।

भारतीय बाजार में जियोनी मैराथन एम4 की कीमत 15,499 रुपए है। कुल मिलाकर फोन के बारे में कहा जा सकता है कि उपयोग में आसान है। डिसप्ले बेहतर और परफॉर्मेंस के मामले में भी अच्छा है। यदि आप कोई ऐसा स्मार्टफोन लेना चाहते हैं जिसकी बैटरी लंबी चले तो जियोनी मैराथन एम4 अच्छा विकल्प है। परंतु यदि बेहतर स्पेसिफिकेशन का फोन लेना चाहते हैं तो जोलो ब्लैक, शाओमी मी4आई और सैमसंग गैलेक्सी जे7 जैसे कुछ फोन हैं जो इसे कड़ी टक्कर देने का दम रखते हैं।

You Might be Interested

Gionee Marathon M4

11999

Buy Now
Android 5.0, Amigo 3.0
Quad Core 1.3 GHz CPU
8 MP, 3264 x 2448 pixels, autofocus, LED flash
  • Published Date: September 18, 2015 3:32 PM IST
  • Updated Date: September 18, 2015 3:35 PM IST