comscore WhatsApp ने यूजर्स के लिए जारी की चेतावनी, Spywere अटैक से बचने के लिए तुरंत अपडेट करें एप | BGR India
News

WhatsApp ने यूजर्स के लिए जारी की चेतावनी, Spywere अटैक से बचने के लिए तुरंत अपडेट करें एप

कुछ रिपोर्ट में दावा किया गया था कि हैकर्स WhatsApp Call से फोन का माइक और कैमरा हैक कर सकते हैं। ऐसे में WhatsApp ने यूजर्स को जल्द से जल्द अपडेट करने के लिए कहा है।

whatsapp-ios

पॉप्युलर मैसेंजिंग एप WhatsApp ने अपने यूजर्स से एप और मोबाइल फोन के ऑपरेटिंग सिस्टम (ओएस) को अपटेड करने को कहा है। WhatsApp का कहना है कि ‘spyware’ अटैक के कारण अपडेट करना जरूरी है। कंपनी ने कहा कि वे जल्द ही भारतीय यूजर्स के लिए अगले 24 से 48 घंटों में नया अपडेट रोल आउट कर देंगे। कंपनी ने यह भी बताया है कि वे जल्द ही WhatsApp Call के दौरान के दौरान फोन हैक किए जाने को फिक्स कर चुके हैं ऐसे में यूजर्स को अपनी एप अटडेट कर लेनी चाहिए। बता दें कि कुछ दिनों पहले कुछ रिपोर्ट आई थीं कि हैकर्स WhatsApp Call से फोन का माइक और कैमरा हैक कर सकते हैं। ऐसे में WhatsApp ने यूजर्स को जल्द से जल्द अपडेट करने के लिए कहा है।

WhatsApp और सिक्यॉरिटी रिसर्चर्स की फर्म ने खुलासा किया है कि ये Spywere इजराइल की एक फर्म ने तैयार किया है। जो WhatsApp कॉल के जरिए किसी फोन में भी डाला जा सकता है। कुछ रिपोर्ट में ये भी दावा किया गया था कि ये एक Bug था जो WhatsApp के ऑडियो कॉल फीचर में आया था। WhatsApp का इस संदर्भ में कहना है कि इस गड़बड़ का पता चलते ही इसे पिछले महीने फिक्स कर दिया गया था, ऐसे में यूजर्स को इस Spywere से बचने के लिए अपनी एप को अपडेट करनी होगी।

WhatsApp की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि वे WhatsApp यूजर्स से एप की लेटेस्ट वर्ज को डाउनलोड करने की अपील कर रहे हैं। इसके साथ ही कंपनी ने WhatsApp यूजर्स को अपना स्मार्टफोन के ऑपरेटिंग सिस्टम को भी अपडेट करने के लिए कहा है। WhatsApp का ये भी कहना है कि यूजर्स को अपने फोन में मौजूद डाटा को लेकर सावधानी रखते हुए अपने स्मार्टफोन को जल्द से जल्द अपडेट कर लेनी चाहिए। WhatsApp यूजर्स एप स्टोर में जाकर अपनी एप को अपडेट करना होगा।

WhatsApp में इस गड़बड़ी का पता इस साल मई महीने की शुरुआत में ही लगा था, जब यूके से जुड़े एक मानवाधिकार वकील का फोन इजराइल के NSO ग्रुप से हैक कर लिया था। NSO ग्रुप इजराइल की सरकार के लिए काम करता है और जानकारी जुटाने के लिए इस तरह के Spywere बनाता रहता है। हालांकि WhatsApp ने अपने बयान में NSO का जिक्र नहीं किया था। NSO ने सिक्योरिटी फर्म द्वारा लगाए आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि NSO यूजर्स को निशाना नहीं बनाता है और न ऐसे किसी ग्रुप और यूजर का समर्थन करता है।

  • Published Date: May 15, 2019 11:48 AM IST