comscore
News

फेक मैसेज को ट्रैक करने के लिए व्हाट्सएप एग्जीक्यूटिव से मिली IT मिनिस्ट्री

कुछ मामलों के बाद सरकार ने व्हाट्सएप को गलत मैसेज के प्रसार को रोकने के लिए कदम उठाने का आदेश दिया है।

WhatsApp

व्हाट्सएप की एक टीम ने मल्टीमीडिया मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर भेजे गए मैसेज का पता लगाने की क्षमता के बारे में बात करने के लिए भारत सरकार के अधिकारियों से मुलाकात की। दोनों पक्षों ने जनता में अशांति और हिंसा फैलाने वाले मैसेज को ट्रैक करने को लेकर बातचीत की। व्हाट्सएप के माध्यम से गलतफहमी से उत्पन्न हुई हिंसा के मामलों को 6 महीने से ज्यादा समय बीच चुका है।

शुरुआत के कुछ मामलों के बाद सरकार ने व्हाट्सएप को गलत मैसेज के प्रसार को रोकने के लिए कदम उठाने का आदेश दिया है। व्हाट्सएप ने न्यूजपेपर, टेलीविजन विज्ञापन और रेडियो विज्ञापनों के के माध्यम से मामले को ठीक करने की कोशिश की है।

इसमें व्हाट्सएप की ओर से अपील की गई है कि यूजर मैसेज के सही होने की पुष्टी के बाद ही इसे आगे बढ़ाए। ऐसा करने पर आप कुछ हद तक फेक न्यूज की समस्या पर काबू पाया जा सकेगा। आपको बता दें कि पिछले साल जनवरी के महीने में व्हाट्सएप द्वारा फैलाई जा रही फेक न्यूज से 30 से अधिक लोगों को घटनाओं का सामना करना पड़ा है।

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के अनुसार मीटिंग में व्हाट्सएप को कहा गया कि उनके प्लैटफॉर्म के जरिए गलत तरीके से जानकारी को फैलाया जा रहा है और वह इसकी जड़ तक पहुंचना चाहते हैं। मैसेज को ट्रैक करने के लिए व्हाट्सएप एग्जीक्यूटिव से मिली IT मिनिस्ट्री

  • Published Date: December 8, 2018 1:56 PM IST