comscore a lost boy found after 18 years via faceapp like ai ageing app technology
News

इस AI App टेक्नोलॉजी की मदद से मिला 18 साल पहले खोया हुआ बच्चा, जानें क्या है पूरा मामला

Yu Weifang नाम के इस युवा की उम्र 21 साल है। इस महीने यह युवा अपने माता-पिता से 3 साल की उम्र के बाद अब पहली बार मिला है और इसका श्रेय FaceApp जैसी एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी को जाता है, जिसे चीनी टेक्नोलॉजी कंपनी Tencent ने डेवलप किया है।

kidnapped kid found

Image Credit: Mirror.co.uk


बिते कुछ दिनों से भारत समेत दुनिया भर में एक दो साल पुरानी ऐप फिर से वायरल होनी शुरू हो गई है। FaceApp नाम की इस एप्लिकेशन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से यूजर अपने चेहरे के एक्सप्रैशन, बालों का स्टाइल और कलर, चेहरे के पार्ट की शेप और यहां तक की अपनी उम्र तक बदल सकता है। प्ले स्टोर या ऐप स्टोर में इस तरह की कई ऐप्स उपलब्ध है, जो आपकी तस्वीर में आपका चेहरा डिटेक्ट कर आपको यह दिखा सकती है कि आप अपने बुढ़ापे में कैसे दिखाई देंगे।

अब चीन से एक लेटेस्ट खबर आई है, जिसे पढ़ कर आप हैरान रह जाएंगे। दरअसल चीन में आज से 18 साल पहले एक बच्चा किडनैप (अगवा) कर लिए गया था, जिसे 18 साल बाद पुलिस ने FaceApp में इस्तेमाल होने वाली एक फेस एजिंग टेक्नोलॉजी की मदद से ढूंढ लिया है। 

Yu Weifang नाम के इस युवा की उम्र 21 साल है। इस महीने यह युवा अपने माता-पिता से 3 साल की उम्र के बाद अब पहली बार मिला है और इसका श्रेय FaceApp जैसी एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी को जाता है, जिसे चीनी टेक्नोलॉजी कंपनी Tencent ने डेवलप किया है।

पुलिस ने इस टेक्नोलॉजी की मदद से Yu Weifang के भविष्य के चेहरे का अनुमान लगाया और उस तस्वीर में आए चेहरे के फीचर्स को लाखों लोगों के डाटाबेस से मैच किया। इसके बाद पुलिस ने AI द्वारा बनाए Yu Weifang के चेहरे से मेल खाते लगभग 100 लोगों को छांटा और तब जाकर पुलिस को Weifang का पता चला। Yu Weigfang साउथ चाइना के Guangzhou प्रांत के एक स्कूल में छात्र है।

Image Credit: Mirror.co.uk

एक पबल्किकेशन की रिपोर्ट में बताया गया है कि इस केस के इनवेस्टिगेटर Zheng Zhenhai ने कहा है कि [हिंदी अनुवाद] “ जब हमने Yu Weifang को ढूंढ लिया, तो उसने अपने किडनैप होने की बात को मानने से इंकार कर दिया। इसके बाद उसका DNA टेस्ट करवाया गया, जो उसके माता-पिता के DNA से मेल खाता था और इससे यह बात कंफर्म हो गई कि वह उनका किडनैप हुआ बेटा है।”

इसमें कोई शक नहीं है कि यदि टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल सही तरह से किया जाए तो हम इसकी मदद से कई समस्याओं का हल निकाल सकते हैं। फिलहाल इस बारे में किसी प्रकार की जानकारी नहीं दी गई है कि Tencent इस टेक्नोलॉजी को चीन की पुलिस को बड़े पैमाने पर उपलब्ध कराएगी या नहीं।

  • Published Date: July 20, 2019 1:04 PM IST