comscore पिछले नेटवर्कों की तुलना में कहीं अधिक सुरक्षित है 5G : हुवावे
News

पिछले नेटवर्कों की तुलना में कहीं अधिक सुरक्षित है 5G : हुवावे

चीन की दूरसंचार उपकरण विनिर्माता हुवावे इंडिया के मुख्य कार्यकारी जे चेन ने कहा है कि 5G नेटवर्क पिछले नेटवर्कों की तुलना में कहीं अधिक सुरक्षित है। यहां ‘द इकनॉमिस्ट इंडिया’ सम्मेलन को संबोधित करते हुए चेन ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी कंपनी ने अपनी तीन दशक की उपस्थिति में कभी सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं किया है।

Huawei Stock Photo

चीन की दूरसंचार उपकरण विनिर्माता हुवावे इंडिया के मुख्य कार्यकारी जे चेन ने कहा है कि 5G नेटवर्क पिछले नेटवर्कों की तुलना में कहीं अधिक सुरक्षित है। यहां ‘द इकनॉमिस्ट इंडिया’ सम्मेलन को संबोधित करते हुए चेन ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी कंपनी ने अपनी तीन दशक की उपस्थिति में कभी सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं किया है। चेन ने कहा कि हुवावेई एकमात्र वेंडर है जो ‘पिछले दरवाजे की शंका को लेकर करार करना चाहती है। इसके जरिये वह यह प्रतिबद्धता जताना चाहती है कि किसी भी इकाई की पिछले दरवाजे से आंकड़ों तक पहुंच नहीं होगी। Also Read - 64MP बैक कैमरा, 32MP सेल्फी कैमरा, 65W फास्ट चार्जिंग, 8GB RAM और Ultra Slim डिजाइन वाले फोन पर धांसू ऑफर, मिलेगा 6000 रुपए का सीधा डिस्काउंट

दुनियाभर में 5G नेटवर्क को शुरू करने के लिए तैयारियां चल रही हैं। ऐसे में हुवावे के नेटवर्क उपकरणों की वजह से चीन की कंपनियों द्वारा प्रयोगकर्ताओं के आंकड़ों के इस्तेमाल की संभावना को लेकर लोग चिंता जता रहे हैं। चेन ने जोर देकर कहा, ‘‘अपनी संरचना की वजह से 5जी नेटवर्क पिछले नेटवर्कों की तुलना में अधिक सुरक्षित है। सिर्फ क्वॉन्टम कंप्यूटर इस सुरक्षा को भेद सकता है।’’ Also Read - 6G टेक्नोलॉजी 2023-24 तक हो सकती है लॉन्च, सरकार ने दिया सबसे तेज नेटवर्क का आश्वासन

Also Read - 50 मेगापिक्सल कैमरे वाला Vivo Y76 स्मार्टफोन हुआ लॉन्च, जानें इसकी कीमत और खूबियां

उन्होंने कहा, ‘‘कई लोग पिछले दरवाजे को लेकर चिंता जता रहे हैं। आज तक हमें ऐसा एक भी प्रमाण नहीं दिया गया है कि हां, हुवावेई को लेकर कुछ है। हम एकमात्र कंपनी है जो पिछले दरवाजे की चिंता को लेकर करार पर दस्तखत को तैयार है। सरकारों के साथ पिछले दरवाजे या बैकडोर करार वैश्विक प्रतिबद्धता है।’’ भारत 5G नेटवर्क शुरू करने की तैयारी कर रहा है। अभी तक भारत ने इस बात पर फैसला नहीं किया है कि हुवावे को 5G नेटवर्क में वेंडर के रूप में अनुमति दी जाएगी या नहीं। हालांकि देश की तीसरी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल ने चीन की कंपनी का समर्थन किया है।

विशेषज्ञों की राय है कि 5G से दूरसंचार क्षेत्र में काफी बदलाव आएगा और यह डेटा और वॉयस से आगे निकल जाएगा। ऊंचे बैंडविद्थ से काफी बड़ी चीजें संभव हो पाएंगी। ऐसे में मूल्यवान डेटा के दुरुपयोग को लेकर चिंता पैदा हुई है। चेन ने कहा कि चीन ने राजधानी बीजिंग के नए हवाई अड्डे पर 5जी सेवा शुरू की है। सुरक्षा और गोपनीयता को लेकर चिंता के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी की संभावनाओं और ऐसी चिंताओं के बीच संतुलन बैठाने की जरूरत है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: October 18, 2019 4:37 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers