comscore 5G Trials in India : Reliance Jio, Airtel और Vodafone Idea ने 5G ट्रायल के लिए फाइल की एप्लीकेशन | BGR India Hindi
News

5G Trials in India : Reliance Jio, Airtel और Vodafone Idea ने 5G ट्रायल के लिए फाइल की एप्लीकेशन

5G Trials in India : टेलीकॉम ऑपरेटर कंपनियों Airtel, Reliance Jio और Vodafone Idea ने भारत में 5G ट्रायल के लिए एप्लीकेशन जमा की हैं। भारत की प्रमुख टेलीकॉम कंपनी Airtel ने 5G ट्रायल के लिए टेक्नोलॉजी कंपनी Huawei, ZTE, Ericsson और Nokia के साथ पार्टनरशिप की है। वहीं Reliance Jio ने 5G ट्रायल के लिए सैमसंग के साथ पार्टनरशिप किए जाने की खबर है।

spectrum-auction

5G Trials in India : टेलीकॉम ऑपरेटर कंपनियों Airtel, Reliance Jio और Vodafone Idea ने भारत में 5G ट्रायल के लिए एप्लीकेशन जमा की हैं। भारत की प्रमुख टेलीकॉम कंपनी Airtel ने 5G ट्रायल के लिए टेक्नोलॉजी कंपनी Huawei, ZTE, Ericsson और Nokia के साथ पार्टनरशिप की है। वहीं Reliance Jio ने 5G ट्रायल के लिए सैमसंग के साथ पार्टनरशिप किए जाने की खबर है। Vodafone Idea ने भी 5G ट्रायल के लिए एप्लीकेशन फाइल की है। वोडाफोन आइडिया ने भी Huawei, ZTE, Ericsson और Nokia के साथ पार्टनशिप की है। फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक फिलहाल Airtel, Reliance Jio और Vodafone Idea के एप्लीकेशन पर कोई फैसला नहीं किया गया है।


बता दें कि पिछले महीने टेलीकॉम मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि केंद्र सरकार सभी टेलीकॉम कंपनियों को सुपर फास्ट स्पीड 5G नेटवर्क के लिए एयरवेवस अलॉट करेगी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी साफ किया कि भारत में 5G ट्रायल के लिए किसी भी इक्यूपमेंट सप्लायर पर किसी तरह की रोक नहीं होगी। देश में 5G नेटवर्क के ट्रायल के लिए 6,050 मेगाहट्र्ज की एयर वेव्स यानी वायु तरंग की पेशकश की जाएगी।

5G ट्रायल के लिए सभी कंपनियों को स्पैक्ट्रम देगी सरकार

दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि सरकार सभी टेलीकॉम सेवा प्रदाता कंपनियों को ट्रायल के लिए 5जी स्पेक्ट्रम मुहैया करवाएगी। दूरसंचार विभाग (डीओटी) सभी टेलीकॉम सेवा प्रदाता को ट्रायल के लिए स्पेक्ट्रम प्रदान करेगी और ऑपरेटर एरिक्शन, नोकिया, सैमसंग और हुआवेई को अपने पार्टनर वेंडर के रूप में चुन सकते हैं।हालांकि ट्रायल का मतलब यह नहीं होगा कि व्यावसायिक रूप में इसकी मंजूरी का आश्वासन दिया जाएगा।

दूरसंचार मंत्रालय की सर्वोच्च नीति निर्माता निकाय डिजिटल कम्युनिकेशन कमीशन ने 20 दिसंबर को मार्च-अप्रैल में स्पेक्ट्रम की नीलामी को मंजूरी प्रदान की हालांकि भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) द्वारा निर्धारित रेडियोवेव्स की आरक्षित कीमत में कोई बदलाव नहीं किया। इस नीलामी के जरिए पहली बार 5जी स्पेक्ट्रम की बिक्री होगी।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: January 16, 2020 11:26 AM IST