comscore रिलायंस जियो से फरवरी में जुड़े 62 लाख नए यूजर, एयरटेल को मिले 9 लाख | BGR India Hindi
News

रिलायंस जियो से फरवरी में जुड़े 62 लाख नए यूजर, एयरटेल को मिले 9 लाख

सरकारी कंपनी बीएसएनएल ने 4.39 करोड़ सब्सक्राइबर जोड़े और इस तरह उसके कुल ग्राहक की संख्या 11.99 करोड़ हो गई। ट्राई के बयान में कहा गया कि वायरलेस सब्सक्राइबर (2जी, 3जी, 4जी) जनवरी के 115.64 करोड़ से बढ़कर फरवरी में 116.05 करोड़ हो गया। इस तरह मासिक वृद्धि 0.36 फीसदी रही।

JIo-4

सब्सक्राइबर के लिहाज से रिलायंस जियो सबसे बड़ी टेलीकाम कंपनी के रूप में बरकरार है। फरवरी में इसने 62 लाख नए ग्राहक जोड़े हैं वहीं भारती एयरटेल ने इसी अवधि में 9 लाख ग्राहक जोड़े। इस तरह फरवरी के आखिर में रिलायंस जियो के 38.28 करोड़ सब्सक्राइबर हो गए और भारती एयरटेल के 32.90 करोड़ ग्राहक थे। ये आंकड़े टेलीकाम रेगुलेटरी अथारिटी आफ इंडिया (ट्राई) की ओर से जारी किए गए। Also Read - Xiaomi Redmi 9A और Redmi 9C स्मार्टफोन 30 जून को होंगे लॉन्च

सरकारी कंपनी बीएसएनएल ने 4.39 करोड़ सब्सक्राइबर जोड़े और इस तरह उसके कुल ग्राहक की संख्या 11.99 करोड़ हो गई। ट्राई के बयान में कहा गया कि वायरलेस सब्सक्राइबर (2जी, 3जी, 4जी) जनवरी के 115.64 करोड़ से बढ़कर फरवरी में 116.05 करोड़ हो गया। इस तरह मासिक वृद्धि 0.36 फीसदी रही।

Also Read - Xiaomi MIUI 12 स्टेबल अपडेट Mi 10 Pro, Mi 10 समेत 13 स्मार्टफोन के लिए जारी, जानें डिटेल्स

5जी प्रौद्योगिकी का ढांचा बनाने में अहम भूमिका निभाएगी जियो

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी वार्षिक रपट में कहा है कि देश में 5जी ढांचा बनाने में जियो की भूमिका अहम होगी। यह बात कंपनी ने बाजार के रुख को देखते हुए कही है। मोबाइल सेवाओं के लिए न्यूनतम आधार कीमत तय करने के मुद्दे पर कंपनी ने कहा दूरसंचार कंपनियों द्वारा दिसंबर में बढ़ाए गए शुल्क का असर हाल में दिखने लगा है। इससे बाजार स्थितियां बेहतर हुई हैं। Also Read - Realme 5i और Realme 6 स्मार्टफोन की कीमतें बढ़ी, जानें नए दाम और फीचर्स

रपट में कहा गया है कि सरकार ने भी 2020-21 के दौरान अगले दौर की स्पेक्ट्रम नीलामी की मंशा जतायी है। ऐसे में जियो के पास पहले से 5जी प्रौद्योगिकी के लिए तैयार प्रणाली और फाइबर परिसंपत्ति है। बाजार के रुख को देखा जाए तो देश में 5जी वातावरण के विकास में जियो की भूमिका अहम होगी।

शेयरधारकों को भेजे पत्र में कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा कि देश में अभी भी लाखों उपयोक्ता 2जी प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर रहे हैं। वह इंटरनेट का उपयोग नहीं कर सकते हैं। ऐसे में देश को पूरी तरह 2जी से 4जी या उससे आगे की प्रौद्योगिकी में लाने की तत्काल जरूरत है, और इस बदलाव के लिए जियो के पास कई अवसर हैं। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले दो साल से अधिक समय में ‘जियोफोन’ 10 करोड़ उपयोक्ताओं को 2जी से 4जी तक लाने में सफल रहा है।

उन्होंने कहा कि जियो को देश के लिए 4जी प्रौद्योगिकी खड़ा करने में मिली सफलता ने फेसबुक और माइक्रोसॉफ्ट जैसी वैश्विक प्रौद्योगिकी कंपनियों को निवेश के लिए आकर्षित किया। अंबानी ने कहा कि रिलायंस जियो के उपयोक्ताओं की संख्या लगातार बढ़ रही है। 31 मार्च 2020 तक इनकी संख्या 38.75 करोड़ पहुंच चुकी है। मोबाइल इंटरनेट की दुनिया में क्रांति लाने के बाद जियो अब उपयोक्ताओं की संख्या और समायोजित सकल आय के हिसाब से देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी है।

उन्होंने कहा कि जियो अपनी अत्याधुनिक वायर प्रौद्योगिकी के माध्यम से घरों और प्रतिष्ठानों तक इंटरनेट सेवाएं पहुंचाने का काम भी कर रही है। इससे एक ही मंच पर कई डिजिटल सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए मजबूत बुनियाद तैयार करने में मदद मिलेगी। रपट के मुताबिक मार्च 2020 के अंत तक जियो फाइबर सेवा लेने वाले घरों की संख्या 10 लाख हो गयी।

अंबानी ने कहा कि ई-वाणिज्य सेवाओं के माध्यम संगठित खुदरा कारोबार के लिए वृद्धि के और अवसर खुलेंगे। रिलायंस रिटेल और व्हाट्सएप ने रिलायंस रिटेल के डिजिटल कारोबार को आगे बढ़ाने के लिए वाणिज्यिक साझेदारी की है। इससे जियोमार्ट मंच का इस्तेमाल व्हाट्सएप पर किया जा सकेगा और व्हाट्सएप छोटे कारोबारियों को समर्थन दे सकेगी।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: June 29, 2020 9:29 PM IST
  • Updated Date: June 29, 2020 9:31 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers