comscore Apple और Samsung 2022 में बना सकते हैं 37 हजार करोड़ रुपये के स्मार्टफोन, PLI स्कीम के तहत होगा काम
News

Apple और Samsung 2022 में बना सकते हैं 37 हजार करोड़ रुपये के स्मार्टफोन, PLI स्कीम के तहत होगा काम

Apple और Samsung वित्त वर्ष 2022 में करीब 37,000 रुपये के स्मार्टफोन का निमार्ण भारत में कर सकती है। भारत सरकार और इंडस्ट्री के अधिकारियों ने एक रिपोर्ट में इस बात की जानकारी दी है।

Samsung and Apple smartphone production in India in 2022

Image Credit: pcmag.com


Apple और Samsung दोनों दुनिया के सबसे लोकप्रिय स्मार्टफोन ब्रांड्स में से हैं। भारत में ये दोनों कंपनियां नए वित्त वर्ष में स्मार्टफोन प्रॉडक्शन को एक नए लेवल पर पहुंचा सकती हैं। दरअसल, केंद्र सरकार के लक्ष्य के अनुसार एप्पल और सैंमसंग वित्तीय वर्ष 2022 में कुल 5 बिलियन डॉलर यानी करीब ₹ 37,000 करोड़ रुपये का स्मार्टफोन बना सकती है। अगर आपको ये आंकड़े हैरान कर रहे हैं,  तो आइए हम आपको इस खबर की पूरी डिटेल बताते हैं। Also Read - How to format your phone: अपने स्मार्टफोन को बनाएं बिल्कुल नया, इस तरह चुटकियों में करें रीसेट

ईटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत सरकार और इंडस्ट्री के अधिकारियों ने जानकारी दी है कि सरकार के फ्लैगशिप प्रॉडक्शन लिंक्ड इनसेंटिव (PLI) स्किम के तहत एप्पल और सैमसंग वित्त वर्ष 2022 में लगभग 5 बिलियन डॉलर (₹ 37,000 करोड़) के स्मार्टफोन बनाने के लिए तैयार हैं, जो केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित किए गए लक्ष्य से 50% से भी ज्यादा है। Also Read - मुश्किल में Apple और Samsung! बिना चार्जर फोन शिप करने पर लग सकता है जुर्माना

कितना होगा निर्यात

इनमें से करीब 2 बिलियन डॉलर के स्मार्टफोन इसी वित्त वर्ष में निर्यात किए जाएंगे। एक सरकारी अधिकारी ने ईटी को बताया कि, “ग्लोबल कंपनियां इस साल अपने लक्ष्य को पार कर सकती हैं और हमें उम्मीद है कि उनके प्रॉडक्शन नंबर्स में भी सुधार होगा।” हैंडसेट के लिए पीएलआई योजना पांच वर्षों में लगभग ₹39,000 करोड़ के इन्सेंटिव्स का वादा करती है। Also Read - दिव्यांग जन के लिए Apple ने पेश किए नए iPhone फीचर्स, जानें क्या होगा खास

भारत को ऐसे प्रॉडक्ट्स का मैन्यूफैक्चरिंग हब बनाने के लिए भारत सरकार ने पहली और सबसे बड़ी योजना PLI (Production-linked incentive) की शुरुआत की थी, जिसका उद्देश्य मुख्य रूप से निर्माताओं को चीन से दूर करना था। PIL योजना के तहत स्मार्टफोन प्रॉडक्शन के लिए पांच ऐप्लिकेंट्स को चुना गया था। इनमें कोरिया का मेन ब्रांड Samsung, एप्पल के तीन कॉन्ट्रक्ट मैन्यूफैक्चर्स Pegatron, Foxconn के Hon Hai और Wistron के साथ-साथ Foxconn का प्रॉडक्शन यूनिट Rising Star (जो अब Bharat FIH है) शामिल थे।

भारत सरकार की योजना

केंद्र सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि, “वित्त वर्ष 2022 स्किम के तहत ऐप्लिकेंट्स को क्वालिफाई करने के लिए सरकार का लक्ष्य 3.2 अरब डॉलर के करीब था। अधिकारी ने बताया कि, “केवल तीन कंपनियों को प्रोत्साहन (Incentives) मिलने की उम्मीद है क्योंकि भारत एफआईएच और पेगाट्रॉन ने अभी तक इस कैटेगरी में फोन का प्रॉडक्शन शुरू नहीं किया है।”

फॉक्सकॉन के बाद Apple की दूसरी सबसे बड़ी वैश्विक निर्माता कंपनी पेगाट्रॉन है, जो आने वाले कुछ महीनों में भारत में प्रॉडक्शन वर्क शुरू कर सकती है। Bharat FIH, फिलहाल मुख्य रूप से चीन के Xiaomi के लिए स्मार्टफोन बनाता है। चूंकि इन डिवाइस के निर्माण की प्रति यूनिट लागत 15,000 रुपये से भी कम है, इसलिए ये कंपनी पीएलआई योजना के तहत इन्सेंटिव्स के लिए क्वालिफाइड नहीं है।

इंडिया सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (आईसीईए) के अध्यक्ष पंकज मोहिंद्रू ने कहा, “वैश्विक निर्माता इस साल अपने स्मार्टफोन पीएलआई लक्ष्य को पार करने के लिए तैयार हैं। हमारी कैलकुलेशन के हिसाब से Samsung, Wistron और Hon Hai (Foxconn) लगभग 5 अरब डॉलर का प्रॉडक्शन कर सकती हैं। Bharat FIH भी एक अप्रैल से शुरू होने वाले अगले वित्तीय वर्ष में चैलेंज देने के लिए तैयार है और Pegatron भी इस साल अपना प्रॉडक्शन शुरू कर सकती है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: January 18, 2022 3:42 PM IST
  • Updated Date: January 18, 2022 4:14 PM IST



new arrivals in india