comscore Apple ने भारत में कार्ड से पेमेंट लेना किया बंद, 'आफत' बना RBI का नया नियम
News

Apple ने भारत में कार्ड से पेमेंट लेना किया बंद, यूजर्स के लिए 'आफत' बना RBI का नया नियम

Apple की सर्विसेज के लिए भारतीय यूजर्स अब डेबिट या क्रेडिट कार्ड से पेमेंट नहीं कर सकेंगे। पिछले साल अक्टूबर में लागू हुआ RBI का नया ऑटो डेबिट नियम यूजर्स और सर्विस प्रोवाइडर कंपनी के लिए आफत बन गया है।

Apple-Card

Apple ने सर्विस सब्सक्रिप्शन और ऐप परचेज के लिए भारत में कार्ड पेमेंट एक्सेप्ट करना बंद कर दिया है। अब यूजर को अपने Apple ID के साथ लिंक ऐप्स, iCloud और Apple Music आदि सर्विसेज के लिए अन्य पेमेंट ऑप्शन का इस्तेमाल करना होगा। यूजर्स अपने डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के जरिए यूजर्स से इन सर्विसेज के लिए बिलिंग नहीं कर सकेगी। एप्पल ने पिछले साल अक्टूबर में आए RBI (भारतीय रिजर्व बैंक) के नए ऑटो डेबिट नियमों की वजह से यह फैसला लिया है। Also Read - Apple यूजर्स कभी न करें ये 3 गलती, नहीं तो हो जाएंगे बैन

यूजर्स को मिल रहा यह मैसेज

कई एप्पल यूजर्स ने माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म Twitter पर क्रेडिट या डेबिट कार्ड के मेन पेमेंट मेथड से रिमूव होने की बात को लेकर शिकायत की है। जिन यूजर्स के Apple ID के साथ पहले से ही डेबिट या क्रेडिट कार्ड प्रेफर्ड पेमेंट के लिए लिंक था, वो भी अब अपने एप्पल आईडी के लिए फ्रेश पेमेंट नहीं कर पा रहे हैं। यूजर को “This card type is no longer supported” यानी “यह कार्ड टाइप अब सपोर्ट नहीं करता है” का मैसेज मिल रहा है। Also Read - 12MP + 12MP कैमरा, 512GB तक स्टोरेज और A15 Bionic चिप वाले Apple iPhone 13 को सस्ते में खरीदने का मौका, Flipkart Sale में मिल रहा 4000 रुपये का Discount

Apple सपोर्ट पेज पर 18 अप्रैल 2022 को लिस्ट किए गए डिटेल के मुताबिक, इस समय भारत में यूजर्स Apple की सर्विसेज के लिए केवल UPI, नेट बैंकिंग और Apple ID बैलेंस को ही पेमेंट ऑप्शन के तौर पर चुन सकते हैं। एप्पल ने यह बदलाव पिछले महीने 18 अप्रैल से ही कर दिया है। Also Read - iPhone 14 Pro स्पेशल पर्पल समेत 4 कलर्स में हो सकता है लॉन्च, यहां देखें चारों वेरिएंट्स की फोटो

सपोर्ट पेज पर कंपनी ने कही ये बात

कंपनी ने अपने सपोर्ट पेज पर लिखा है कि भारत में रेगुलेटरी रिक्वायरमेंट्स रिकरिंग ट्रांजैक्शन के लिए लागू है। अगर, आप भारतीय डेबिट या क्रेडिट कार्ड होल्डर हैं और आपके पास एप्पल की सर्विसेज का सब्सक्रिप्शन है, तो यह बदलाव आपके ट्रांजैक्शन पर दिखेगा। कुछ ट्रांजैक्शन बैंक या कार्ड इश्यू करने वाली कंपनी की तरफ से अस्वीकार किए जा  सकते हैं।

Apple के सपोर्ट पेज के मुताबिक, रेगुलेटरी रिक्वायरमेंट्स का मतलब RBI द्वारा पिछले साल लागू नए ऑटो डेबिट नियम से है, जिसकी वजह से एप्पल अपने यूजर्स से सर्विसेज के लिए कार्ड के जरिए रिकरिंग पेमेंट एक्सेप्ट नहीं कर पा रहा है। इस बदलाव के बाद iPhone बनाने वाली कंपनी ने अन्य डिजिटल पेमेंट तरीकों जैसे कि UPI, नेट बैंकिंग और Apple ID वॉलेट की तरफ रूख किया है।

क्या कहता है RBI का नया ऑटो डेबिट नियम?

भारतीय रिजर्व बैंक यानी RBI द्वारा अक्टूबर से लागू किए गए ऑटो डेबिट नियम के मुताबिक, Apple, Netflix आदि जैसे मर्चेंन्ट को कस्टमर कार्ड से रिकरिंग पेमेंट के लिए ई-मैन्डेट सेट करना होगा। इसके लिए टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन अनिवार्य होगा। नया नियम यह भी कहता है कि 5, 000 रुपये से ज्यादा का पेमेंट करने के लिए ग्राहक को कंसेंट यानी अनुमति देनी होगी।

यही वजह है कि एप्पल ने कार्ड के जरिए पेमेंट रिसीव करना बंद कर दिया है। हालांकि, Apple के अलावा Google भी RBI के नए ऑटो डेबिट नियम की वजह से प्रभावित है, जिसकी वजह से यूजर्स को Google Play और YouTube के लिए कार्ड के जरिए रिकरिंग पेमेंट (हर महीने जाने वाले पेमेंट) करने में दिक्कत आ रही है। RBI की पाबंदी के बाद से Google भी यूजर्स से रिकरिंग पेमेंट चार्ज नहीं कर पा रहा है।

Apple और Google के अलावा Netflix भी इस नए नियम की वजह से प्रभावित हुआ है। कंपनी ने UPI AutoPay सर्विस का इस्तेमाल बिलिंग के लिए करना शुरू कर दिया है। इस सर्विस को NPCI यानी नेशनप पेमेंट कार्पोरेशन ऑफ इंडिया ने 2020 में शुरू किया था।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: May 5, 2022 7:22 PM IST



new arrivals in india