comscore सीओएआई का पक्षपात का आरोप आधारहीन: ट्राई | BGR India
News

सीओएआई का पक्षपात का आरोप आधारहीन: ट्राई

नियामक से सेल्यूलर आपरेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (सीओएआई) को बिना आधार के आरोप लगाने के प्रति आगाह किया है।

  • Updated: February 15, 2022 5:02 PM IST
TRAI


दूरसंचार नियामक ट्राई ने पर लगे पक्षपात के आरोप का खंडन करते हुए इसे आधारहीन बताया है। दूरसंचार कंपनियों के संगठन सीओएआई ने आरोप लगाया था कि उसके आदेश किसी एक कंपनी का पक्ष लेने वाले प्र​तीत होते हैं। नियामक से सेल्यूलर आपरेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (सीओएआई) को बिना आधार के आरोप लगाने के प्रति आगाह किया है। Also Read - TRAI के इस फैसले से यूजर्स होंगे खुश, टीवी देखना होगा सस्ता

Also Read - WhatsApp बना 'Spam Factory', 95 प्रतिशत भारतीय यूजर्स को रोज मिलते हैं फर्जी मैसेज

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकार (ट्राई) के सचिव एस के गुप्ता ने पीटीआई भाषा से बातचीत में जोर दिया कि नियामक पारदर्शी तरीके से काम करता है और सीओएआई को तो आरोप लगाने की आदत सी हो गई है। Also Read - क्या आप जानते हैं अपने फोन की इंटरनेट स्पीड? इस ऐप से लगाएं पता

गुप्ता ने कहा, ‘सीओएआई ने जो भी आरोप लगाए हैं उनमें कोई सार नहीं है। वे आधार हीन हैं।’ उन्होंने कहा कि ट्राई के आदेश व नियम विस्तृत परामर्श पत्र व भागीदारों के साथ खुली चर्चा के बाद ही आते हैं। उन्होंने कहा कि सीओएआई पहले भी इस तरह के आरोप लगाता रहा है।

इस बीच सीओएआई ने कहा कि उसके सदस्य कानूनी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं और वे अपनी चिंताओं के बारे में दूरसंचार विभाग तथा प्रधानमंत्री कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं। संगठन की चिंता बाजार बिगाड़ू कीमतों को लेकर नियामक के फैसले के बारे में है।

इसका आरोप है कि ट्राई के आदेशों से केवल एक ही कंपनी को फायदा होता नजर आ रहा है। संगठन के महानिदेशक राजन मैथ्यूज ने कहा कि उसकी सदस्य कंपनियां भावी कदमों के बारे में एक दो हफ्तों में फैसला करेगा।

  • Published Date: February 22, 2018 9:00 PM IST
  • Updated Date: February 15, 2022 5:02 PM IST

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.