comscore Coronavirus से जुड़ा एप, शेयर करता है पुलिस से लोगों का डेटा| BGR India Hindi
News

Coronavirus की जांच करने वाला एप, शेयर करता है चीनी पुलिस से लोगों का डेटा!

पिछले महीने चीन में एक एप जारी किया गया था, जो लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमण संबंधी जानकारी दे रहा। इस एप का नाम Close Contact Detector है, जिसकी मदद से लोगों को इस बात की जानकारी मिल रही थी कि आसपास कौन संक्रमित है।

Coronavirus 6

Image credit: Zee News


कोरोना वायरस (Coronavirus) पिछले एक महीने से ज्यादा वक्त से चीन में अपना कहर बरसा रहा है। चीन में इस वायरस के संक्रमिण तीन हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं पिछले महीने चीन में एक एप जारी किया गया था, जो लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमण संबंधी जानकारी दे रहा। इस एप का नाम Close Contact Detector है, जिसकी मदद से लोगों को इस बात की जानकारी मिल रही थी कि आसपास कौन संक्रमित है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने की रिपोर्ट के मुताबिक ये एप यूजर्स को कलर साइन प्रदान करता है। Also Read - PUBG Mobile में अब खिलाड़ी जितना दौड़ेंगे, उतना ज्यादा Coronavirus (कोरोनावायरस) फंडिंग में होगा दान, जानें कैसे

Coronavirus की जांच के लिए इस्तेमाल होता है ये एप

एप के यूजर्स को ये कोड नजर आता है और एप लोकल पुलिस ने इस संबंध में डेटा शेयर कर रहा। ये सिस्टम अलीबाबा ग्रुप के चर्चित पेमेंट एप अलीपे द्वारा संचालित है। इस एप का इस्तेमाल 200 से ज्यादा शहरों में लोग कर रहे हैं। यूजर्स एक क्यूआर कोड को स्कैन कर ग्रीन, यलो और रेड टैग प्राप्त कर सकते हैं। इसमें ग्रीन टैग मिलने का मतलब है यूजर बिना किसी रोक-टोक से शहर में घूम सकता है, जबकि यलो का मतलब है कि उसे सात दिन निगरानी में रहना होगा और रेड का मतलब उसे 14 दिन निगरानी में रहना होगा। Also Read - कोरोनावायरस के संक्रमण के यूजर्स को दूर रखने के लिए Google Maps में जुड़ा ये खास फीचर

रिपोर्ट में कहा गया है कि ये एप यूजर्स की लोकेशन, शहर का नाम और आईडी प्रूफ नंबर आदि सर्वर से शेयर करता है, जो संभवतः अथॉरिटी के पास है। जैसे ही कोई यूजर स्कैन करता है, एप इसका डेटा सर्वर से शेयर करता है। इसकी मदद से अथॉरिटीज आसानी से किसी भी यूजर की मूवमेंट को ट्रैक कर सकती हैं। हालांकि चीन में मौजूद टेक कंपनियों के लिए यह कोई बड़ी बात नहीं है। वह पहले भी यूजर्स का डेटा सरकार और अथॉरिटीज के साथ शेयर करती रही हैं। Also Read - कोविड-19 मरीजों के लिए खाली बिस्तरों की जानकारी देने के लिए ‘दिल्ली कोरोना’ एप लॉन्च

हालांकि इस एप के खिलाफ भी कुछ रिपोर्ट्स सामने आई हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक की यूजर्स ने बताया कि एक ही परिवार के अलग अलग लोगों के लिए अगल रिपोर्ट आई हैं, जबकि वह एक दूसरे से अलग रहे हैं। इस एप पर पूरी तरह से विश्वास नहीं किया जा सकता है। गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बुधवार को कहा कि देश में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 28 पुष्ट मामले सामने आए हैं। उन्होंने बताया कि अब सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों और यात्रियों की स्क्रीनिंग की जाएगी। इससे पहले 12 देशों के यात्रियों की ही स्क्रीनिंग की जा रही थी।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: March 4, 2020 5:52 PM IST



new arrivals in india

Best Sellers