comscore Jio भी आ सकती है Coronavirus की जद में, ये प्लान करेगा मदद | BGR India Hindi
News

Jio भी आ सकती है Coronavirus की जद में, कंपनी ले सकती है इस प्लान की मदद

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़े प्रकोप का प्रभाव इंसानों के साथ साथ विभिन्न कंपनियों पर भी पड़ने लगा है। इस समस्या से निपटने के लिए टेलीकॉम सेक्टर की दिग्गज कंपनी रिलायंस जियो इंफोकॉम मल्टी वेंडर स्टैटजी पर काम कर सकती है।

Jio Rs 11 Plan, Reliance Jio

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़े प्रकोप का प्रभाव इंसानों के साथ साथ विभिन्न कंपनियों पर भी पड़ने लगा है। इस समस्या से निपटने के लिए टेलीकॉम सेक्टर की दिग्गज कंपनी रिलायंस जियो (Jio) इंफोकॉम मल्टी वेंडर स्टैटजी पर काम कर सकती है। चूंकि कोरोना वायरस का प्रभाव व्यापक है और दक्षिण कोरिया भी इसकी जद में है इसलिए जियो का काम काज प्रभावित हो सकता है। एनालिस्ट और इंड्स्ट्री एक्जीक्यूटिव के हवाले से दी गई रिपोर्ट में बताया गया है कि जियो फिलहाल सैमसंग से 4जी नेटवर्क सेवा लेता है और यह प्रभावित भी हो सकती है।


Jio पर पड़ सकता है Coronavirus का असर

एक्सपर्ट ने बताया कि जियो के प्रतिद्वंदी वोडाफोन आइडिया और भारती एयरटेल का अपने नेटवर्क के लिए चीनी कंपनी हुवावे और जेडटीई से मदद लेते हैं। चूंकि चीन में इस वायरस का व्यापक प्रभाव है, इसलिए ये कंपनियां Ericsson और Nokia जैसे यूरोपीय वेंडर से मदद ले सकते हैं। इंडस्ट्री एक्सपर्स ने इस बात की जानकारी दी है। Analysys Mason के इंडिया और मिडिल ईस्ट पार्टनर और प्रमुख रोहन धमिजा ने बताया, ‘दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस के प्रभाव के कारण जियो सिंगल वेंडर के बजाय मल्टी वेंडर नेटवर्क स्टैटजी पर काम कर सकती है।’

उन्होंने बताया कि यदि यह समस्या इसी प्रकार से बढ़ती रही तो शायद सैमसंग इसकी पुष्टि नहीं कर पाएगी कि वह जियो को 4जी इक्विपमेंट बिना किसी दिक्कत के सप्लाई करती रहेगी। जियो भारत में हर महीने नए 4जी ग्राहक जोड़ रही है, जिसके कारण उसे अपने नेटवर्क के लिए इक्विपमेंट की आवश्यकता होगी। ऐसे में जियो सिंगल वेंडर स्टैटजी के बजाय मल्टी वेंडर स्टैटजी पर काम कर सकती है।

भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया पहले से ही मल्टी वेंडर स्टैटजी पर काम करती हैं। लेकिन जियो ने अपने नेटवर्क गियर सिर्फ दक्षिण कोरिया कंपनी सैमसंग से खरीदे हैं। अब तक जियो पर कोरोना वायरस का प्रभाव नहीं पड़ा है। लेकिन अब धीरे धीरे स्थिति बदल रही है और भविष्य में जियो को चीनी कंपनी से मदद लेनी पड़ सकती हैं। हाल में ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के दौरान मुकेश अंबानी ने कहा था कि उन्होंने जियो 4जी सेवा को शुरू करने में किसी चीनी इक्विपमेंट का इस्तेमाल नहीं किया है और 5जी को लेकर भी उनका यही प्लान है।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें।

  • Published Date: March 5, 2020 1:20 PM IST
  • Updated Date: March 5, 2020 3:06 PM IST