comscore Vivo India पर ED की बड़ी कार्रवाई, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कई जगहों पर Raid
News

Vivo India पर ED की बड़ी कार्रवाई, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कई जगहों पर छापेमारी

Vivo India और उसकी सहयोगी कंपनियों के ठिकाने पर ED ने मंगलवार सुबह छापेमारी की है। रिपोर्ट के मुताबिक, जांच एजेंसी की यह रेड कंपनी के 44 दफ्तरों में की गई है।

Vivo-Logo

Vivo India पर ED ने बड़ी कार्रवाई की है। वीवो इंडिया और उसकी सहयोगी कंपनियों के कई दफ्तरों पर ED ने मंगलवार सुबह छापेमारी की है। यह कार्रवाई मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच को लेकर की गई है। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि कंपनी के कुल 44 जगहों पर छापेमारी हुई है। इससे पहले भी Vivo, Oppo, Xiaomi और OnePlus जैसी चीनी कंपनियों पर PMLA (Prevention of Money Laundering Act) के तहत कार्रवाई की जा चुकी है। Also Read - Vivo V25 Pro का फर्स्ट लुक रिवील, Flipkart पर होगा खरीद के लिए उपलब्ध

इससे पहले भी चीनी कंपनी के जम्मू-कश्मीर में एक डिस्ट्रीब्यूटर पर जांच एजेंसी ने छापेमारी की थी। मई में भी Vivo और ZTE के कई भारतीय यूनिट्स की कॉर्पोरेट अफेयर्स मिनिस्ट्री ने जांच की थी। केन्द्रीय एजेंसी को वीवो और ZTE द्वारा की जा रही वित्तीय गड़बड़ियों का पता चला था, जिसके बाद मिनिस्ट्री ऑफ कॉर्पोरेट अफेयर्स ने इन दो कंपनियों की भारतीय यूनिट्स की जांच की थी। Also Read - OPPO, Vivo, Xiaomi की कस्टम ड्यूटी चोरी पर ऐक्शन, सरकार ने भेजे नोटिस

वित्तीय गड़बड़ी से जुड़ा मामला

Vivo India से उस समय कॉर्पोरेट मंत्रालय ने कंपनी के डायरेक्टर्स, शेयरहोल्डर्स, बेनिफिशिरी और ऑनर्स आदि की डिटेल मांगी थी। रिपोर्ट के मुताबिक, इन कंपनियों की हो रही जांच की रिपोर्ट इसी महीने आने वाली थी। उस समय कहा गया था कि जांच रिपोर्ट आने के बाद कंपनियों पर कार्रवाई की जाएगी। Also Read - Vivo T1 Pro 5G Review: बेसिक यूज के लिए बेहतर, पर रह गईं ये कमियां

इससे पहले भी केन्द्र सरकार की जांच एजेंसी ED ने चीनी स्मार्टफोन मेकर Xiaomi से वित्तीय गड़बड़ियों की वजह से 5551 करोड़ रुपये जब्त किए थे। Xiaomi के अलावा केन्द्र सरकार ने 2020 से लेकर अब तक 500 से ज्यादा चीनी कंपनियों के अकाउंट्स की जांच की है। इन कंपनियों में ZTE, Vivo, OPPO, Huawei Technologies, Alibaba Group की कई भारतीय यूनिट्स आदि शामिल हैं।

चीनी कंपनियों के खिलाफ सरकार शख्त

केन्द्र सरकार चीनी कंपनियों के खिलाफ कड़े कदम उठा रही है। इसके तहत जून 2020 से लेकर अब तक 200 से ज्यादा चीनी ऐप्स को भारत में बैन किया जा चुका है। इन ऐप्स द्वारा भारत सरकार के IT Act 2000 के आर्टिकल 69A का उल्लंघन किया जा रहा था, जो देश की संप्रभुता के लिए खतरा था। यही नहीं, ये ऐप्स भारतीय यूजर्स के डेटा को चीन में स्टोर कर रहे थे। चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों द्वारा किए जाने वाले वित्तीय गड़बड़ियों से जुड़े कई मामले सामने आए हैं।

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on  Facebook Messenger for latest updates.

  • Published Date: July 5, 2022 1:17 PM IST
  • Updated Date: July 5, 2022 1:30 PM IST



new arrivals in india