comscore
News

कंफर्म: आर्गुमेंटिड रियलिटी Glasses पर काम कर रहा है फेसबुक

फेसबुक ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि वो आर्गुमेंटिड रियलिटी ग्लासेस पर काम कर रहा है।

facebook-f8-2017-augmented-reality-glasses

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि वो आर्गुमेंटिड रियलिटी ग्लासेस पर काम कर रहा है। टेकक्रंच से बातचीत करते हुए फेसबुक के आर्गुमेंटिड रियलिटी के हेड ने कंफर्म किया है कि वो इस टेक्नोलॉजी पर काम कर रहे हैं। लॉस एंजेलिस में फेसबुक के आर्गुमेंटिड रियलिटी के हेड फिकस किर्कपैट्रिक ने टेकक्रंंच के AR/VR इवेंट में कहा कि फेसबुक आर्गुमेंटिड रियलिटी पर काम कर रहा है।

फिकस किर्कपैट्रिक का कहना है कि हम हार्डवेयर प्रोडक्ट बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम हार्डवेयर प्रोडक्ट पर आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम आर्गुमेंटिड रियलिटी ग्लासेस को सच होते देखना चाहते हैं। इसका मतलब है कि फेसबुक जल्द ही एप्पल,माइक्रोसॉफ्ट और गूगल को आर्गुमेंटिड रियलिटी हेडसेट्स के मामले में चुनौती देगी।

फेसबुक के आर्गुमेंटिड रियलिटी के हेड फिकस किर्कपैट्रिक ने कहा कि अभी हमारे पास अनाउंस करने के लिए कोई प्रॉडक्ट नहीं है। लेकिन, हमारे टेलेंटिड लोग जो काम कर रहे हैं  उससे हेडसेट्स के फ्यूचर में महत्वपूर्ण रोल अदा करेगा। अपने आर्गुमेंटिड रियलिटी हेडसेट के जरिए फेसबुक हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर दोनों टेक्नोलॉजी पर अपना कंट्रोल कर  सकता है। आर्गुमेंटिड रियलिटी, ऐसी टेक्नोलॉजी  है जिसके जरिए आभासी चीज़ें वास्तविक लगती हैं। आर्गुमेटिंड ग्लासिस के जरिए आभासी दुनिया और वास्तविक दुनिया के बीच का फर्क मिट जाता है।

 

  • Published Date: October 25, 2018 3:53 PM IST