comscore facebook की Cryptocurrency Libra भारत में नहीं होगी लॉन्च!
News

facebook की Cryptocurrency Libra भारत में नहीं होगी लॉन्च!

एक रिपोर्ट में बताया गया है कि क्रिप्टोकरंसी का इस्तेमाल के लिए यूज होने वाला डिजिटल वॉलेट उन देशों में उपलब्ध नहीं होगा, जहां क्रिप्टोकरंसियों पर बैन लगा हुआ है।

Facebook Libra Crypotcurrency and Calibra Wallet 2.0

Cryptocurrency Libra : सोशल नेटवर्क दिग्गज फेसबुक ने हाल ही में घोषणा की थी कि कंपनी अगले साल क्रिप्टोकरंसी Libra को लॉन्च करने वाली है। लेकिन अब लेटेस्ट रिपोर्ट पर भरोसा किया जाए तो अगले साल लॉन्च होने वाली यह Cryptocurrency Libra भारत में उपलब्ध नहीं होगी। यदि इसके पीछे के मुख्य कारण की बात करें तो भारत में क्रिप्टोकरंसी की रेगुलेशंस के तहत ब्लॉकचेन करेंसी के अंदर देश की बैंकिंग नेटवर्क का इस्तेमाल करने की परमीशन नहीं है। एक रिपोर्ट में बताया गया है कि क्रिप्टोकरंसी का इस्तेमाल के लिए यूज होने वाला डिजिटल वॉलेट उन देशों में उपलब्ध नहीं होगा, जहां क्रिप्टोकरंसियों पर बैन लगा हुआ है।

ET की एक रिपोर्ट के मुताबिक, फेसबुक ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) को भारत में अपनी क्रिप्टोकरंसी का इस्तेमाल करने के लिए किसी प्रकार का आवेदन नहीं दिया है। ET से बात करते हुए फेसबुक के एक रिप्रजेंटेटिव ने बताया, “हम चाहते हैं कि Calibra व्हाट्सएप पर काम करें और ग्लोबल तौर पर सभी के लिए उपलब्ध हो।’’ आपको बता दें कि Facebook ने Visa, Mastercard, PayU और Uber समेत 28 कंपनियों से पार्टनरशिप की है, जो वर्चुअल करेंसी को स्वीकार करेंगे। Libra नाम से लॉन्च होने वाली यह क्रिप्टोकरंसी मेसेजिंग ऐप्स WhatsApp और Facebook दोनों पर उपलब्ध होगी।

RBI ने पिछले साल अप्रैल में कई फर्मों को तीन महीने में वर्चुअल करेंसी में लेन देन को रोकने के आदेश दिए थे। देश में बिटकॉइन की ट्रेडिंग करने वाली फर्मों ने RBI के इस प्रतिबंध के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील भी की थी, जो केस अभी भी कोर्ट में चल रहा है।

ET की रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि एक Law फर्म के फाउंडर का कहना है ‘यदि फेसबुक Libra को क्लोज सिस्टम में रहने के लिए बनाती है, तो RBI को चिंतित नहीं होना चाहिए क्योंकि इसका बाहर असर नहीं पड़ेगा। यदि यह एक क्लोज सिस्टम में ऑपरेट करने के लिए नहीं है तो यह उस प्रकार का डिजिटल एसेट है जिससे लेकर RBI काफी चिंतित दिखाई देता है।’

फेसबुक और व्हाट्सएप UPI की मदद से अपने खुद के पेमेंट बिजनेस को भारत में बनाने में लगे हुए हैं। हालांकि इसे फिलहाल कमर्शियल ऑपरेशन के लिए अप्रूवल नहीं मिला है, इसलिए यह 2018 से टेस्टिंग मोड पर चलाया जा रहा है।

  • Published Date: June 20, 2019 1:03 PM IST